Wednesday, December 7, 2022

भारतीय दर्शन में विशिष्ट योगदान के लिए डॉ. इंदु प्रकाश सिंह सम्मानित

Follow us:
Janchowk
Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

प्रयागराज। आंध्र प्रदेश के प्रतिष्ठित शोध एवं शिक्षण संस्थान द्वारा हेमवती नंदन बहुगुणा राजकीय पीजी कॉलेज नैनी के सहायक प्रोफेसर दर्शनशास्त्र (उच्चतर शिक्षा समूह -क सेवा, उत्तर प्रदेश सरकार) को “नेशनल एजुकेशन एक्सीलेंस अवॉर्ड -2021 इन इंडियन फिलासफी” एक भव्य आयोजन में प्रदान किया गया।

कोविड प्रोटोकॉल के तहत देश एवं विदेश से जुड़े अनेक महान हस्तियों ने ऑनलाइन जूम मीटिंग पर कार्यक्रम में भागीदारी की। गौरतलब है कि उपरोक्त पुरस्कार हेतु उच्चतर शिक्षा एवं शोध संस्थान, विजयवाड़ा ,आंध्र प्रदेश ने राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय विद्वानों से ऑनलाइन आवेदन पत्र आमंत्रित किया था। पुरस्कार हेतु नामांकन के रूप में प्राप्त उपलब्धियों को देखते हुए विशेषज्ञ समूह के द्वारा नामों का चयन किया गया।

उसके बाद 6 नवंबर 2021 को डॉ इंदु प्रकाश सिंह के नाम के चयन की घोषणा उक्त पुरस्कार हेतु किया गया। डॉक्टर इंदु प्रकाश सिंह को उपरोक्त राष्ट्रीय पुरस्कार का प्रमाण पत्र, स्मृति चिन्ह एवं अन्य पुरस्कार संबंधी अभिलेख ऑनलाइन द्वारा प्रदान किया गया, जिसे भौतिक रूप से डाक द्वारा प्राप्त कराया जाएगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि, प्रोफेसर डॉ. कमल करुणा दास ,ऑस्ट्रेलिया, विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रोफेसर डॉ चिंग टोन थाईलैंड डॉक्टर के कपूर, केन्या प्रोफेसर डॉ चौधरी, मलेशिया, कार्यक्रम के आयोजक एवं संस्थान के निदेशक प्रोफेसर रत्नाकर डी वाला विजयवाड़ा ,आंध्र प्रदेश एवं देश तथा विदेश के अनेक वैज्ञानिक, शिक्षक एवं शोधकर्ता जिन्हें सम्मानित किया गया उपस्थित रहे।

उल्लेखनीय है कि डॉ इंदु प्रकाश सिंह को इसके पूर्व राष्ट्रीय एवं विश्वविद्यालय पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं। डॉ भीमराव अंबेडकर राष्ट्रीय दलित साहित्य अकादमी के द्वारा राष्ट्रीय फेलोशिप सम्मान-2021 हेतु डॉ इंदु प्रकाश सिंह के नाम का चयन किया गया है जिसे दिसंबर माह में आयोजित भव्य पुरस्कार समारोह में सम्मानित दिल्ली में जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

क्यों ज़रूरी है शाहीन बाग़ पर लिखी इस किताब को पढ़ना?

पत्रकार व लेखक भाषा सिंह की किताब ‘शाहीन बाग़: लोकतंत्र की नई करवट’, को पढ़ते हुए मेरे ज़हन में...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -