Monday, August 15, 2022

नवाब मलिक और देवेन्द्र फडनवीस के बीच आरोप-प्रत्यारोप, मलिक ने कहा- पूर्व सीएम का ड्रग माफिया से संबंध

ज़रूर पढ़े

आर्यन ड्रग केस के तार अब अंडरवर्ल्ड से जुड़ने लगे हैं तथा एनसीपी और भाजपा के बीच कीचड़ उछालने का जवाबी कीर्तन शुरू हो गया है। उद्धव ठाकरे सरकार के मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने सोमवार को एक और धमाका किया है। नवाब मलिक ने महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडनवीस की पत्नी अमृता फडनवीस के साथ जयदीप चंदूलाल राणा नाम के शख्स की तस्वीर शेयर की है। मलिक ने दावा किया कि देवेंद्र फडनवीस की पत्नी का म्यूजिक वीडियो ड्रग पैडलर राणा ने फाइनेंस किया था। उन्होंने कहा कि फडनवीस के संरक्षण में ड्रग का धंधा चल रहा था।

इसके जवाब में देवेंद्र फडनवीस ने भी मीडिया के सामने आने में देर नहीं की। फडनवीस ने मलिक के आरोपों को हास्यास्पद बताते हुए कहा कि मलिक मुझ पर हमला नहीं कर सकते, इसलिए वह मेरी पत्नी पर हमला कर रहे हैं और हम इसके लिए तैयार हैं। दिवाली हो जाने दीजिए, बम हम फोड़ेंगे। मैं दीपावली के बाद नवाब मलिक के अंडरवर्ल्ड से संबंधों के सबूत आपको भी दूंगा और एनसीपी चीफ शरद पवार को भी दूंगा।

महाराष्ट्र सरकार के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडनवीस पर गंभीर आरोप लगाया। मलिक ने कहा कि महाराष्ट्र में फडनवीस के इशारे पर ड्रग्स का धंधा चल रहा है। नवाब मलिक ने अपने ट्विटर पर एक फोटो शेयर करते हुए यह सवाल उठाया कि भाजपा नेताओं का ड्रग पेडलर से क्या कनेक्शन है? नवाब मलिक ने अमृता फडनवीस के साथ एक ड्रग्स पेडलर की तस्वीर शेयर की है। जानकारी के मुताबिक, इस ड्रग पेडलर का नाम जयदीप राणा है। जिसे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने जून 2021 में गिरफ्तार किया था। फिलहाल यह व्यक्ति जेल में है। अब इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर शेयर करके यह सवाल पूछा जा रहा है कि आखिर भाजपा और ड्रग्स माफियाओं का क्या कनेक्शन है? मलिक ने कहा कि जयदीप राणा से उनके रिश्ते अच्छे हैं, इस मामले में वह 2021 में गिरफ्तार भी हो चुका है।

मलिक ने कहा कि जयदीप राणा वही शख्स है, जिसने अमृता फडनवीस के एक म्यूजिक वीडियो को फाइनेंस किया था। मलिक ने रिवर सॉन्ग का वीडियो भी शेयर करते हुए लिखा कि इस वीडियो में अमृता ने न सिर्फ एक्टिंग की, बल्कि सोनू निगम के साथ गाना भी गाया था। अमृता के साथ देवेंद्र फडनवीस और पूर्व वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार भी नजर आ रहे हैं। वहीं, प्रदीप गाबा ड्रग्स खेल का बड़ा किरादर है। उन्होंने सवाल किया कि बड़े बड़े ड्रग पेडलर क्यों छोड़ दिए जाते हैं। इसका साफ मतलब है कि भाजपा और ड्रग्स माफियाओं के बीच अच्छे रिश्ते हैं। फडनवीस और राणा के संबंध की जांच होनी चाहिए।

मलिक यही नहीं रुके उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि सचिन वझे की तरह ही फडनवीस ने नीरज नाम का एक गुंडा पाल रखा था। राज्य में ट्रांसफर-पोस्टिंग के पूरे रैकेट और वसूली का काम वह गुंडा ही देखता था। पूर्व मुख्यमंत्री जब भी मुंबई से पुणे जाते थे, वे नीरज के घर पर रुकते थे। उसका मुख्यमंत्री निवास और मुख्यमंत्री कार्यालय में सीधा आना जाना था । इस मामले की पूरी जांच होनी चाहिए कि वह कैसे सरकारी काम में दखल देता था?

नवाब मलिक ने क्रांति रेडेकर को घेरते हुए कहा कि मराठी अस्मिता की चादर ओढ़कर आप खुद को और परिवार को बचाने का जो प्रयास कर रही हैं, वह कामयाब नहीं होगा। आपको मालूम होना चाहिए कि आपके पति महाराष्ट्र को बदनाम करने वाले लोगों के साथ में मिलकर राज्य के खिलाफ साजिश कर रहे हैं। बेगुनाह लोगों को जेल में डाल रहे हैं,वसूली का रैकेट चला रहे हैं। इन सबके बावजूद आपको लगता है कि महाराष्ट्र सरकार आपकी मदद करे?

नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर भी तंज कसते हुए कहा कि जिस तरह से जिन्न की जान एक तोते में होती है, उसी तरह समीर वानखेड़े एक तोते की तरह हैं और जो राक्षसी सोच के लोग हैं, वह उनका समर्थन कर रहे हैं और भाजपा भी उनका समर्थन कर रही है। उन्हें भय होने लगा है कि अगर समीर वानखेड़े जेल में चले गए तो सारे काले कारनामों की पोल खुल जाएगी। इस तरह से उगाही का धंधा समीर वानखेड़े चला रहे हैं, इस बात का खुलासा हो जाएगा। अब समीर वानखेड़े और उनके समर्थक हाई कोर्ट से गिरफ्तारी न होने और सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।

इस बीच केंद्रीय मंत्री अठावले को एनसीबी प्रमुख समीर वानखेड़े के परिजनों से मिलने को लेकर एनसीपी नेता नवाब मलिक ने भाजपा पर तीखा हमला बोला है। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि वानखेड़े के परिवार वालों से अठावले क्यों मिले। आरोपी के परिवार को समर्थन करना दुर्भाग्यपूर्ण है। भाजपा नेताओं के संबंध ड्रग पेडलरों के साथ है।

देवेंद्र फडनवीस ने कहा कि मैं कांच के घर में नहीं रहता इसलिए मैं तैयार हूं और मैं ईट का जवाब पत्थर से देना जानता हूं। इससे पहले भी नवाब मलिक पर आरोप लगे थे और उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। मलिक के आरोप पर अमृता फडनवीस ने सोशल मीडिया में लिखा, ‘उल्टा चोर कोतवाल को क्यों डांटे? क्योंकि विनाशकाले विपरीत बुद्धि!

मलिक से पहले इस तस्वीर को निशांत वर्मा नाम के एक शख्स ने अपने सोशल मीडिया पेज पर शेयर किया था। निशांत वर्मा एक राष्ट्रीय राजनीतिक विश्लेषक होने का दावा करते हैं। यही बात उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर भी लिखी है। वह BJP के खिलाफ कई बयान देते रहे हैं। साथ ही भाजपा और उसके नेताओं की आलोचना करते रहे हैं।

फडणवीस ने कहा कि नीरज गुंडे के बारे में नवाब मलिक को वर्तमान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से चर्चा करनी चाहिए। कितनी बार वे नीरज गुंडे के यहां गए हैं या नीरज गुंडे उनके पास गया है यह बात उन्हें उद्धव ठाकरे से पूछनी चाहिए। नीरज गुंडे पर एक भी मामला दर्ज नहीं है और उनके खिलाफ किसी ने कोई कंप्लेंट नहीं की है। नीरज गुंडे अक्सर एनसीपी के घोटालों को उजागर करते रहे हैं।

मलिक के आरोप पर भाजपा नेता किरीट सोमैया ने कहा-मलिक ने जो आरोप लगाया है वह निचले स्तर के हैं और ऐसे आरोप सिर्फ ठाकरे-पवार ही लगा सकते हैं। किरीट सोमैया ने दावा किया कि यह नवाब मलिक की क्षमता नहीं है।

नवाब मलिक ने एससी कमीशन के उपाध्यक्ष अरुण हलधर पर भी गंभीर आरोप लगाए। मलिक ने कहा कि हलधर पद की मर्यादा भूल गए हैं। उनका रवैया संदेहास्पद है। वे एक ऐसे शख्स के घर जाते हैं, जो अपनी जाति छिपाने का आरोपी है। संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति का ऐसा आचरण बेहद हैरान करने वाला है। अगर किसी का कास्ट सर्टिफिकेट फर्जी है, तो उसे जांचने का अधिकार शेड्यूल कास्ट कमीशन को नहीं है। हम राष्ट्रपति के पास इसकी शिकायत दर्ज कराएंगे। अरुण हलदर को इतनी जल्दबाजी क्या है, यह उन्हें बताना पड़ेगा।

(जेपी सिंह वरिष्ठ पत्रकार हैं और आजकल इलाहाबाद में रहते हैं।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

कार्पोरेट्स के लाखों करोड़ की कर्जा माफ़ी क्या रेवड़ियां नहीं हैं मी लार्ड!

उच्चतम न्यायालय ने अभी तक यह तय नहीं किया है कि फ्रीबीज या रेवड़ियां क्या हैं, मुफ्तखोरी की परिभाषा क्या है? सुप्रीम...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This