Sunday, August 14, 2022

गांधी हिन्दू थे और गोडसे हिन्दुत्वादी: राहुल गांधी

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

“दो शब्दों की आत्मा एक जैसी नहीं हो सकती है। ये दो शब्द हैं हिन्दू और हिन्दुत्ववादी। इन दो शब्दों की आत्मा एक जैसी नहीं हो सकती है। मैं हिन्दू हूं लेकिन हिन्दुत्ववादी नहीं हूं। इस देश में दो शब्दों की टक्कर है। एक शब्द हिंदू और एक हिंदुत्व है। ये दोनों एक शब्द नहीं हैं, ये अलग-अलग शब्द हैं। महात्मा गांधी हिन्दू थे और गोडसे हिन्दुत्वादी था।” उपरोक्त बातें कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने जयपुर के विद्यानगर स्टेडियम में महंगाई हटाओ रैली को संबोधित करते हुए कहा है। 

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने रैली में आगे कहा कि हिन्दू सत्य के लिए मरता है, सत्य उसका पथ है वह आजीवन सत्य की खोज करता है। महात्मा गांधी ने पूरे जीवन सत्य की खोज की। लेकिन हिन्दुत्ववादी गोडसे ने उनके सीने में तीन गोलियां मार दी। हिन्दुत्ववादियों को सत्य से कुछ नहीं लेना देना है। हिन्दू सत्य की खोज में कभी नहीं झुकता है लेकिन हिन्दुत्ववादी नफ़रत से भरा होता है क्योंकि उसके मन में खौफ़ होता है। 

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रैली में कहा कि आप सभी हिन्दू हैं। हिन्दुत्ववादी सत्ता के भूखे होते हैं। 2014 से हिन्दुत्ववादी सत्ता में हैं, हिन्दू सत्ता से बाहर हैं। हमें इन हिन्दुत्ववादियों को हटाकर हिन्दुओं को सत्ता में लाना है। राहुल गांधी ने कहा कि हमें डराया नहीं जा सकता, हम मौत से नहीं डरते हैं। हिंदुत्ववादी को सिर्फ सत्ता चाहिए, सत्य नहीं। उनका रास्ता सत्याग्रह नहीं, सत्ता ग्रह है। हिंदू अपने डर का सामना करता है, वो शिव जी की तरह अपने डर को पी जाता है। लेकिन हिन्दुत्ववादी भय में जीता है। भारतवर्ष हिंदुओं का देश है, हिंदुत्ववादियों का नहीं। मैं हिंदुत्ववादी नहीं बल्कि हिंदू हूं। आज देश को महंगाई और दर्द जैसी चीजें हिंदुत्ववादियों ने दी हैं। इन्हें हर हालत में सत्ता चाहिए। अपने वजूद को बचाने के लिए ही ये लोगों को बरगला कर हिंदुत्ववाद का झांसा देने में लगे हैं। इन्हें पता है कि अगर लोगों को बरगलाया नहीं तो सत्ता नहीं मिलने वाली है।

गौरतलब है कि राजस्थान की राजधानी जयपुर में आज कांग्रेस की मेगा रैली हुई। रैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी शामिल हुईं लेकिन उन्होंने रैली को संबोधित नहीं किया। रैली को प्रियंका गांधी, सचिन पायलट, भूपेश बघेल ने संबोधित किया। 

कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी जी व उनके तीन-चार हिंदुत्ववादी मित्रों ने इस देश को आठ साल में बर्बाद कर दिया। देश को जनता नहीं चला रही, देश को तीन-चार पूंजीपति चला रहे हैं। हमारे प्रधानमंत्री जी उनका काम कर रहे हैं। उनका कहना था कि इन पूंजीपतियों के पास देश बंधक बनाकर रख दिया गया है। सरकार इनके हिसाब से अपनी नीतियां तैयार करती है। मोदी जी ने 50 फ़ीसदी ग़रीब आबादी के हाथ में सिर्फ़ 6% धन ही छोड़ा है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार बार-बार सवाल करती है कि कांग्रेस ने 70 साल में क्या किया? मैं कहता हूं कि 70 साल की रट छोड़िए हमें यह बताइए आपने सात साल में क्या किया? कांग्रेस नेता ने कहा कि कांग्रेस ने 70 साल में देश में जो कुछ बनाया था यह भाजपा सरकार उसे बेचना चाहती है। रैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित कांग्रेस के तमाम बड़े नेता मौजूद थे।

राहुल गांधी ने आगे कहा कि सरकारें दो तरह की होती हैं। एक सरकार का लक्ष्य सेवा, समर्पण व जनता से सच्चाई की बात होता है। एक ऐसी सरकार होती है जिसका लक्ष्य झूठ, लालच व लूट है। मौजूदा केंद्र सरकार का लक्ष्य झूठ, लालच व लूट है। लेकिन अब लोगों को सारी चीजें समझ आ रही हैं। इन्हें सच पता चलेगा।

उन्होंने आगे कहा कि देश की हालत आप सब को दिख रही है। ये रैली महंगाई और बेरोज़गारी के बारे में है, लेकिन देश की जो आज हालत है वो आज से पहले कभी नहीं हुई थी। हिंदुस्तान के सब इंस्टीट्यूशन एक संगठन और एक हाथ में हैं। मंत्री के दफ्तर में आरएसएस के OSD बैठे हैं। इस देश को जनता नहीं चला रही बल्कि 3-4 पूंजीपति चल रहे हैं।

महंगाई हटाओ रैली को संबोधित करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि नरेंद्र मोदी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री होंगे जो मुख्यमंत्री के पत्रों का जवाब नहीं देते हैं। इससे आप समझ लीजिए कि देश किस दिशा में जा रहा है। 

सरकार विज्ञापन पर ख़र्च करती है किसानों पर नहीं  

रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि आप इस रैली में इसलिए आए हैं क्योंकि महंगाई की वजह से आपका जीना मुश्किल हो गया है। आप यहां इसलिए आए हैं क्योंकि रसोई का सिलेंडर 1000 का हो गया है। 

प्रियंका गांधी ने आगे कहा कि ये सरकार जितना विज्ञापन पर ख़र्च करती है उतना किसानों पर ख़र्च नहीं करती है। ये सरकार सिर्फ गिने-चुने उद्योगपतियों के लिए काम कर रही है। जो सरकार केंद्र में है वो जनता की भलाई नहीं चाहती है। हमारे पर्यटक प्रधानमंत्री अपने आवास से 10 किलोमीटर दूर किसानों से मिलने नहीं जा पाए लेकिन पुरी दुनिया घूम आए।

प्रियंका गांधी ने आगे कहा कि हमसे बीजेपी चुनाव आते ही चीन की बात करेगी, किसी और देश की बात करेगी, लेकिन रोज़गार की बात नहीं करेगी, महंगाई की बात नहीं करेगी। आखिर देश में इतनी महंगाई क्यों है? आप को ये सवाल सरकार से पूछना चाहिए, क्योंकि ये आपकी ज़िम्मेदारी है? आप सरकार से एक मजबूत भविष्य मांगिए। महंगाई सिर्फ़ आपकी लड़ाई नहीं है, ये मेरी लड़ाई है, ये मेरे भाई राहुल गांधी की लड़ाई है, ये सोनिया गांधी की लड़ाई है। ये मंच पर बैठे हर एक कांग्रेसी की लड़ाई है।

महंगाई के मोर्चे पर केंद्र सरकार पूरी तरह फेल

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि “जब से मोदी सरकार आई है, 7 साल का कुशासन आपके सामने है। मोदी सरकार ने लोगों को अपने वादों से गुमराह किया है, महंगाई से लोगों का बुरा हाल है।” 

महंगाई हटाओ रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा कि महंगाई के मोर्चे पर केंद्र सरकार पूरी तरह फेल रही है। बीजेपी के नेताओं ने महंगाई हटाने को लेकर झूठा आश्वासन भी नहीं दिया। क्योंकि ये सब समझते हैं कि जनता का वोट उनकी जेब में है। लेकिन यहां एकत्र होकर जनता ने केंद्र की बीजेपी सरकार को संदेश दे दिया है कि उनके दिन अब पूरे हो चुके हैं। सचिन पायलट ने कहा कि 2024 में बीजेपी को दिल्ली से हटाने के काम की शुरुआत जयपुर से हो चुकी है। आज जनता महंगाई से त्रस्त है, लेकिन जैसे किसानों ने बीजेपी की सरकार को झुकाया है वैसे ही जनता की आवाज़ के आगे इस सरकार को भी झुकना ही पड़ेगा।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वे समझते हैं कि बहुत जल्दी हम सब की भावनाओं का सम्मान करते हुए राहुल गांधी अध्यक्ष पद को स्वीकार करेंगे।

रैली में केंद्र की नीतियों के ख़िलाफ़ हल्ला बोल तो किया ही जा रहा है। इस रैली से एक और आवाज़ निकलकर सामने आ रही है। वो आवाज़ यह है कि राहुल गांधी को जल्द से जल्द कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभाल लेना चाहिए।

वहीं पंजाब सरकार में मंत्री राज कुमार वर्का ने कहा है कि राहुल गांधी हमारी अगुआई करें और जल्द कांग्रेस अध्यक्ष की कमान सम्भालें, इसके बाद  TMC की जो ग़लतफ़हमियां है, वो जल्द ही दूर हो जाएंगी।

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

कार्पोरेट्स के लाखों करोड़ की कर्जा माफ़ी क्या रेवड़ियां नहीं हैं मी लार्ड!

उच्चतम न्यायालय ने अभी तक यह तय नहीं किया है कि फ्रीबीज या रेवड़ियां क्या हैं, मुफ्तखोरी की परिभाषा क्या है? सुप्रीम...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This