Monday, December 5, 2022

 पुल हादसे ने बताया कि नरसंहार का मॉडल है बीजेपी का गुजरात मॉडल: माले

Follow us:
Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

पटना। गुजरात के मोरबी पुल हादसे में मारे गए लोगों की स्मृति में आज पटना के बुद्ध स्मृति पार्क के पास भाकपा-माले की पटना महानगर कमेटी की ओर से श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। कैंडल जलाकर माले कार्यकर्ताओं व आम नागरिकों ने एक मिनट का मौन रखकर सभी मृतकों को अपनी श्रद्धांजलि दी। आज ही दरभंगा में भाकपा-माले के वरिष्ठ नेता कॉ. लक्ष्मी पासवान की भी मौत हो गई। कार्यकर्ताओं ने कॉ.. लक्ष्मी पासवान और पत्रकारिता जगत के जाने-माने फोटोग्राफर एपी दुबे को भी अपनी श्रद्धांजलि दी।

patna3

श्रद्धांजलि सभा को माले के वरिष्ठ नेता केडी यादव, किसान महासभा के नेता शिवसागर शर्मा, ऐपवा की बिहार राज्य सचिव शशि यादव, अनीता सिंह, मीडिया प्रभारी कुमार परवेज, जसम के अनिल अंशुमन आदि नेताओं ने संबोधित किया। जबकि कार्यक्रम का संचालन माले की राज्य कमेटी के सदस्य व एआईपीएफ के संयोजक कमलेश शर्मा ने किया।

patna2

वक्ताओं ने कहा कि मोरबी पुल हादसा भाजपा के तथाकथित विकास मॉडल की पोल खोलता है। गुजरात का बहुप्रचारित मॉडल विकास का नहीं बल्कि विनाश व जनसंहार का मॉडल है। आम लोगों की जिंदगी को भाजपाई खेल समझते हैं। आज पूरा भारत जानना चाहता है कि एक घड़ी बनाने वाली कंपनी को आखिर क्यों पुल को मरम्मत करने का ठेका दिया गया? गुजरात सरकार ने लगभग 200 लोगों को जानबूझकर मौत के मुंह में धकेलने का काम किया।

वक्ताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री उस वक्त गुजरात में ही थे, लेकिन वे रैली संबोधित करते रहे। एक दिन बाद घायलों से मिलने अस्पताल पहुंचे। उन अस्पतालों की हकीकत आज सबके सामने है। यह संवेदनहीनता की पराकाष्ठा है।

patna

ऐसी संवेदनहीन व भ्रष्टाचार में लिप्त सरकार को देश अब एक पल भी बर्दाश्त करने की स्थिति में नहीं है। आने वाले गुजरात चुनाव और 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा की सरकार को सबक सिखाया जाएगा।

पार्टी की मांग है कि सभी घायलों के उचित इलाज का प्रबंध सरकार द्वारा किया जाना चाहिए। भ्रष्टाचार में लिप्त व अव्वल दर्जे की लापरवाही बरतने वाले इस घटना के जिम्मेदार अधिकारियों और ओरेवा कंपनी पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

पश्चिमी सिंहभूम में सुरक्षा बलों का नंगा नाच, हिंसा से लेकर महिलाओं के साथ की छेड़खानी

झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिला मुख्यालय व सदर प्रखंड मुख्यालय से करीब दूर है अंजेड़बेड़ा राजस्व गांव, जिसका एक...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -