Wednesday, December 7, 2022

सीएए का विरोधः योगी सरकार ने भेजा इमरान प्रतापगढ़ी को एक करोड़ चार लाख का नोटिस

Follow us:
Janchowk
Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

योगी सरकार किसी भी तरह से सीएए के खिलाफ लगातार हो रहे प्रदर्शनों को रुकवाने की कोशिश कर रही है। पुलिस की गोली से कई लोगों की मौत के बाद भी जब प्रदर्शन नहीं रुके तो महिलाओं को प्रताड़ित किया जाने लगा। इलाहाबाद में लाठीचार्ज किया गया। अब इन प्रदर्शनों को समर्थन देने वालों को निशाना बनाया जा रहा है। ताजा मामला मशहूर शायर और कांग्रेस नेता इमरान प्रतापगढ़ी का है। उन्हें योगी प्रशासन ने एक करोड़ रुपये का नोटिस भेजा है।

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में भी 29 जनवरी से लगातार सीएए के खिलाफ धरना प्रदर्शन जारी है। इस प्रदर्शन में चर्चित शायर और कांग्रेस नेता इमरान प्रतापगढ़ी भी शामिल हुए थे। अब उनके खिलाफ जिला प्रशासन ने नोटिस जारी किया है। इमरान पर मुरादाबाद में लगी धारा-144 का उल्लंघन करने का भी आरोप प्रशासन ने लगाया है। मुरादाबाद जिला प्रशासन ने उन पर एक करोड़ चार लाख आठ हजार रुपये का जुर्माना लगाया है।

प्रशासन ने मुरादाबाद के ईदगाह में चल रहे प्रदर्शन पर 13 लाख 42 हजार रुपये हर दिन के हिसाब से जुर्माना लगाया है। मुरादाबाद प्रशासन ने जो नोटिस उन्हें भेजा है, उसमें प्रदर्शन को सामाजिक सौहार्द के लिए खतरा बताया गया है। प्रशासन ने तर्क दिया है कि प्रदर्शन के दौरान रोजाना कानून-व्यवस्था पर खर्च हो रहा है। मुरादाबाद के अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम की तरफ से 144 लोगों को इस तरह का नोटिस भेजा गया है। इसमें सबसे ज्यादा रकम इमरान प्रतापगढ़ी के खिलाफ वसूली के लिए लिखी गई है।

बता दें कि इससे पहले छह फरवरी को भी प्रशासन ने इमरान प्रतापगढ़ी को नोटिस जारी किया था। हालांकि अभी तक प्रशासन नोटिस तामील नहीं करा पाया है। इमरान प्रतापगढ़ी को नोटिस जारी किए जाने के बाद सियासत गरमा गई है। नोटिस को लेकर इमरान ने हैरत बताते हुए कहा कि मेरे मुरादाबाद पहुंचने से पहले ही नोटिस जारी हो गई। वहीं यूपी कांग्रेस कमेटी ने भी इमरान के समर्थन में ट्वीट कर नोटिस का विरोध किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

क्यों ज़रूरी है शाहीन बाग़ पर लिखी इस किताब को पढ़ना?

पत्रकार व लेखक भाषा सिंह की किताब ‘शाहीन बाग़: लोकतंत्र की नई करवट’, को पढ़ते हुए मेरे ज़हन में...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -