Wednesday, August 17, 2022

पेपर लीक कांड का विरोध कर रहे विपक्षियों पर बीजेपी नेताओं का हमला और छेड़खानी के तहत पुलिस ने लगाई धाराएं

ज़रूर पढ़े

गांधीनगर। हेड क्लर्क भर्ती पेपर लीक कांड मामले में सोमवार को आम आदमी पार्टी सचिवालय का घेराव करेगी। ऐसा इनपुट पुलिस प्रशासन को आईबी द्वारा मिला था। इनपुट के आधार पर पुलिस ने सचिवालय में पहले ही चाक चौबंद बंदोबस्त किया हुआ था। इसके तहत उसने सचिवालय का गेट बंद कर वहां की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी। दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रमुख गोपाल इटालिया, इशुदान गढ़वी, प्रवीण राम, निखिल सवाणी, हसमुख पटेल सहित 500 कार्यकर्ताओं ने गांधीनगर न जाकर शहर में स्थित प्रदेश कार्यालय “कमलम” का घेराव कर दिया।

पेपर रद्द करने और असित वोरा को पद से हटाने की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता कमलम कार्यालय के अंदर घुस कर नारेबाज़ी करने लगे। पुलिस को जब पता चला कि उन्हें गलत इनपुट मिला है। तो पुलिस बल बीजेपी दफ्तर पहुंचा। अचानक घेराव से पुलिस और बीजेपी नेता सकते में थे। आम आदमी पार्टी के नेताओं को पुलिस घेरे में लेकर डिटेन करने की तैयारी कर रही थी। तभी बीजेपी युवा विंग प्रमुख प्रशांत कोराट सहित कई भाजपा नेताओं ने हमला कर दिया। आप और बीजेपी में हुई झड़प में गोपाल इटालिया और इशुदान गढ़वी सहित कई लोग घायल हो गए। 

पुलिस ने आप के दोनों वरिष्ठ नेताओं को कमलम की सिक्योरिटी केबिन में ले जाकर हमले से बचाया। पुलिस ने लाठी चार्ज भी किया जिसमें आम आदमी के कई कार्यकर्ताओं के सिर भी फूटे हैं। गोपाल इटालिया और गढ़वी भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। भाजपा नेताओं को पुलिस ने समझा बुझा कर शांत किया। फिर पुलिस ने आम आदमी पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को पकड़ कर पुलिस स्टेशन ले गई।

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता राम धुन बजाकर पेपर लीक कांड का विरोध कर रहे थे। तभी पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए गिरफ्तारियां शुरू कर दी थी। उसी समय प्रशांत कोराट और अन्य भाजपा नेताओं ने भी लाठी डंडे के साथ आम आदमी पार्टी पर हमला कर दिया। आम आदमी पार्टी का आरोप है कि पुलिस और भाजपा के लोगों ने मिलकर पिटाई की है।

आम आदमी पार्टी के नेताओं सहित 500 कार्यकर्ताओं पर आईपीसी की अलग-अलग 20 धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है। बीजेपी की नेता श्रद्धा राजपूत की फरियाद के आधार पर दिल्ली के शिवकुमार, प्रदेश प्रमुख गोपाल इटालिया, इशुदान गढ़वी, प्रवीण राम, निखिल सवानी, हसमुख पटेल सहित 500 के खिलाफ महिला से छेड़ छाड़, राइटिंग इत्यादि जैसी धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है।

भाजपा महिला नेता ने इशुदान गढ़वी पर दारू पीकर छेड़ने का आरोप लगाया है।पुलिस ने गढ़वी की मेडिकल जांच कराई है। परन्तु मेडिकल रिपोर्ट में कहीं भी मेडिकल ऑफिसर ने दारू पीए होने का उल्लेख नहीं किया है। 

आम आदमी पार्टी के महेश सवानी ने छेड़खानी संबंधी आरोप को नकारते हुए कहा कि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर केस दर्ज कर लिया जाए पता चल जाएगा कि भाजपा नेता या आप नेता किसने छेड़खानी की है।

आम आदमी पार्टी भी भाजपा नेताओं द्वारा मारपीट और महिलाओं से बदसलूकी की क्रॉस एफआईआर दर्ज करने की मांग कर रही है। परन्तु अभी तक भाजपा के विरुद्ध मामला दर्ज नहीं हुआ है।

कल की घटना के बाद आज पुलिस पूरे राज्य में सतर्कता दिखाते हुए आम आदमी पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारियां कर रही है। आज सुबह सात बजे से ही आम आदमी पार्टी के नेताओं को डिटेन कर उनके क्षेत्र के पुलिस स्टेशन में रखा गया। अहमदाबाद के रखियाल पुलिस स्टेशन द्वारा डिटेन किए गए मुनव्वर हुसैन को जब शाम को पांच बजे पुलिस ने रिहा किया तो हुसैन ने जनचौक को बताया, “गिरफ्तारियां राज्य भर में हुई हैं।, जो लोग गांधीनगर नहीं गए थे उनके फोन भी बंद आ रहे हैं। पार्टी के लोगों को भी एक दूसरे के बारे में कम जानकारियां मिल पा रही हैं।”

लीगल सेल के इंचार्ज प्रणव ठक्कर ने बताया कि बीजेपी के इशारे पर पुलिस ने आपातकालीन जैसा वातावरण खड़ा कर दिया है। पुलिस ने बेल के लिए जा रहे बेलर को भी डिटेन कर लिया। पुलिस ने लीगल टीम के वकीलों को भी पुलिस स्टेशन में सुबह से बैठा रखा है।”

महेश सवाणी ने बताया, “आज गांधीनगर कोर्ट में पार्टी की तरफ से ज़मानत की अर्जी दी गई थी। लेकिन कोर्ट ने किसी को भी बेल नहीं दिया। सभी कार्यकर्ता जेल भेज दिए गए हैं।”

पेपर कांड मुद्दे पर आम आदमी पार्टी को मुख्य विपक्षी की भूमिका में आता देख कांग्रेस अपने कार्यालय से ज़िला कलेक्टर के कार्यालय तक बाइक रैली का आयोजन कर रही है। ताकि पेपर लीक कांड में कांग्रेस की भी भूमिका बनी रहे। कमलम में विरोध कर आम आदमी पार्टी ने विरोध पक्ष की भूमिका में आपने आप को आगे कर लिया है।

(अहमदाबाद से जनचौक संवाददाता कलीम सिद्दीकी की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

इन संदेशों में तो राष्ट्र नहीं, स्वार्थ ही प्रथम!

गत सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपना नौवां स्वतंत्रता दिवस संदेश देने के लिए लाल किले की प्राचीर पर...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This