Monday, August 8, 2022

आप तो कहते थे बड़े मजबूत प्रधानमंत्री हैं, पर टेनी के आगे बहुत मजबूर दिख रहे हैं: मनोज झा

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

शीतकालीन सत्र के 15 वें दिन आज लखीमपुर खीरी मामले पर, RJD सांसद मनोज झा ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि “इतना सब कुछ हो जाने के बाद अगर ये व्यक्ति मंत्रिमंडल में बैठा हुआ है, तो मैं समझता हूं कि प्रधानमंत्री जी पर ही एक बहुत बड़ी टिपण्णी है। आप तो कहते थे बड़े मजबूत प्रधानमंत्री हैं, पर आज बहुत मजबूर दिख रहे हैं। क्या मजबूरियां हैं हम नहीं जानते, लेकिन देश मजबूरियों से नहीं चलता। संसद का मतलब है कि इस पर चर्चा हो और सरकार का ये कहना कि इस मामले पर संसद में चर्चा नहीं हो सकती क्योंकि मामला अदालत में है, इससे ज़्यादा बेकार का तर्क कोई और नहीं हो सकता”।

स्थगन प्रस्ताव

1- आज सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद कांग्रेस सांसद शक्ति सिंह गोहिल और राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने लखीमपुर खीरी कांड पर चर्चा करने और गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी को तत्काल बर्खास्त करने की मांग को लेकर राज्यसभा में स्थगन प्रस्ताव पेश किया।

2- कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने 16 नवंबर को प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव के साथ सीईसी और दो चुनाव आयुक्तों की बातचीत के मद्देनजर “चुनाव आयोग के औचित्य और स्वायत्तता और संस्थानों की स्वतंत्रता” पर चर्चा करने के लिए लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया।

3- IUML सांसद अब्दुल वहाब ने महिलाओं की शादी की न्यूनतम आयु 18 से 20 वर्ष करने के कैबिनेट के प्रस्ताव पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव पेश किया।

कौन कौन से बिल पेश हुये आज

आज संसद के शीतकालीन सत्र का 15वां दिन था। लोकसभा में आज तीन बिल पेश किए गए-

1- वन्यजीव संरक्षण संशोधन बिल 2021,

2- राष्ट्रीय डोपिंग रोधी बिल 2021.

3- चार्टर्ड एकाउंटेंट, लागत, संकर्म लेखपाल, कंपनी सचिव संशोधन बिल 2021.

सरोगेसी विनियमन विधेयक में राज्यसभा के संशोधनों पर विचार किया जाना था, लेकिन विपक्ष के गतिरोध की वजह से कार्यवाही आगे नहीं बढ़ सकी। नियम 193 के तहत मंहगाई के मुद्दे और जलवायु परिवर्तन पर आज चर्चा हुई। लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान आंगनवाड़ी और कुपोषण पर सवाल-जवाब होना था। विपक्षी सांसद लगातार गतिरोध बनाये हुए थे। नारेबाजी कर रहे थे, तख्तियां लहरा रहे थे। जिसके चलते लोकसभा की कार्यवाही पहले 12 बजे तक, फिर 2 बजे तक के लिये और फिर लोकसभा की कार्यवाही सोमवार 20 दिसंबर सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

जबकि राज्यसभा में आज गैर सरकारी विधेयक पेश किए जाने थे और सुलह विधेयक 2021 पेश किया जाना था, लेकिन राज्यसभा की कार्यवाही सुबह ही स्थगित कर दी गई थी।

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

हर घर तिरंगा: कहीं राष्ट्रध्वज के भगवाकरण का अभियान तो नहीं?

आजादी के आन्दोलन में स्वशासन, भारतीयता और भारतवासियों की एकजुटता का प्रतीक रहा तिरंगा आजादी के बाद भारत की...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This