Tuesday, August 9, 2022

त्रिलोचन भट्ट

जोर पकड़ने लगा देहरादून का वन बचाओ आंदोलन

देहरादून। देहरादून का आशारोड़ी के जंगल बचाने का काम अब जोर पकड़ने लगा है। सिटीजन फाॅर ग्रीन दून के आह्वान पर कुछ लोगों द्वारा शुरू किये गये इस आंदोलन में दर्जनों संस्थाएं और कई नामी पर्यावरणविद भी जुड़ गये...

‘ये जो कुल्हाड़ी पेड़ में मारी, तुमने अपने पैर पे मारी’

देहरादून। देहरादून-दिल्ली एक्सप्रेस-वे के लिए आशारोड़ी रेंज में साल के सैकड़ों साल पुराने जंगल को काटने का काम लगातार जारी है। दूसरी तरफ दून के सामाजिक संगठन और पर्यावरण प्रेमियों की ओर से किया जा रहा प्रदर्शन का सिलसिला...

देहरादून में सौ साल पुराने साल के जंगल का सफाया

देहरादून। विकास के नाम पर एक बार फिर से उत्तराखंड में विनाश का खेल शुरू कर दिया गया है। चार धाम सड़क परियोजना के नाम पर हजारों पेड़ों की बलि देने और पर्यावरण प्रभावों का अध्ययन करने वाली कमेटी...

उत्तराखंड: महिलाशक्ति फिर बनी निर्णायक

उत्तराखंड में महिला शक्ति समय-समय पर अपनी उपस्थिति दर्ज करने के साथ ही विभिन्न आंदोलनों में निर्णायक भूमिका निभाती रही है। विश्व प्रसिद्ध चिपको आंदोलन हो या नशा विरोधी आंदोलन या फिर उत्तराखंड राज्य आंदोलन, सभी जगह महिलाएं निर्णायक...

स्पेशल रिपोर्ट: दरक रहे उत्तराखंड के पहाड़ों का संदेश सुनो

28 फरवरी, 2022 को जब जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र के अंतर सरकारी पैनल (आईपीसीसी) की छठी रिपोर्ट जारी की जा रही थी, जिसमें पिघलते ग्लेशियरों और पहाड़ों में बढ़ते भूस्खलन की घटनाओं पर कई अध्याय हैं, उसी समय...

देहरादून नहरों के बाद बाग भी इतिहास बनने की ओर

अंग्रेज पहली बार 1815 में देहरादून आए। गढ़वाल के अपदस्थ राजा मानवेन्द्र शाह के अनुरोध पर अंग्रेजों ने गढ़वाल पर कब्जा किए बैठे गोरखों को कई जगहों पर परास्त किया। अंतिम लड़ाई देहरादून के पास खलंगा में हुई। कई...

बंदरों और सूअरों के चलते उत्तराखंड के लोगों का जीना हुआ दुश्वार

मतदान से दो दिन पहले ही सही, भारतीय जनता पार्टी ने भी उत्तराखंड चुनाव के लिए अपना दृष्टि-पत्र जारी कर दिया है। कांग्रेस करीब एक हफ्ते पहले ही प्रतिज्ञा पत्र के नाम से अपना घोषणा पत्र जारी कर चुकी...

ग्राउंड रिपोर्ट: आसान नहीं, इंद्रेश मैखुरी होना

पहाड़ में जन आंदोलनों का प्रतीक बन चुके इंद्रेश मैखुरी एक बार फिर से चुनाव के मैदान में हैं। वे भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माले) के टिकट पर उत्तराखंड की कर्णप्रयाग विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में हैं। इससे पहले...

उत्तराखंड के चुनाव में असल मुद्दे नदारद

प्रचंड शीतलहर के बीच उत्तराखंड में चुनावी माहौल पूरे शबाब पर है। उम्मीदवार अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। कोविड पाबंदियों के कारण भले ही बड़ी सभाएं न हो पा रही हों,...

ग्राउंड रिपोर्ट: आधे चुकुम गांव को ही लील गयी कोसी

चुकुम गांव (रामनगर)। उत्तराखंड में इस वर्ष अक्तूबर के महीने में हुई बेमौसमी बारिश ने बारिश के पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये, ऐसा मौसम विभाग की ओर से जारी किये गये बारिश के आंकड़े बताते हैं। राज्य आपदा प्रबंधन...

About Me

20 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

बिहार में सियासत करवट लेने को बेताब

बिहार में बीजेपी-जेडीयू की सरकार का दम उखड़ने लगा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस दमघोंटू वातावरण से निकलने को...