Monday, August 15, 2022

‘aadhee rotee book

‘‘आधी रोटी” का पूरा सच

यह आत्मकथा एक ऐसे दलित व्यक्ति के जीवन-संघर्षों की गाथा है जिसने उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में स्थित देवरिया जिले के एक छोटे से गांव चरियांव खास (जगदीशपुर मौजा मठबालागिर) में जन्म लिया था। जहां ग्रामीण जाति-व्यवस्था के साये...
- Advertisement -spot_img

Latest News

जश्न और जुलूसों के नाम थी आज़ादी की वह सुबह

देश की आज़ादी लाखों-लाख लोगों की कु़र्बानियों का नतीज़ा है। जिसमें लेखक, कलाकारों और संस्कृतिकर्मियों ने भी अपनी बड़ी...
- Advertisement -spot_img