Thursday, August 18, 2022

Covid

नाटक की प्रयोगशाला में एक नूतन प्रयोग है पुंज प्रकाश का ‘पलायन’

सच्चाई है कि लुटियन के टीले पर जारी नाटक के समक्ष भारत के तमाम नाटक अप्रासंगिक होते जा रहे हैं। बावजूद इसके जनता का नाटक और सत्ता के नाटक का फर्क करते हुए हमने बरसों बाद पटना में नाटक...

कोविड पर श्रीलंका की सैन्य प्रतिक्रिया ने एक राष्ट्र को कैसे  बर्बाद किया

(तुषार धारा द्वारा कोविड-19 के बाद श्रीलंका में आर्थिक और सामाजिक संकट पर लेखों की श्रृंखला में यह दूसरा लेख है। धारा देश में आखों देखी वहां की घटनाओं पर रिपोर्ट करने के लिए गए थे-संपादक) 18 मार्च, 2020 को...

अस्पतालों को आम जनता से दूर करने की कवायद को छुपाने के लिए मंत्री जी मार रहे हैं छापे

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने शायद कोविड-19 महामारी से कोई सबक़ नहीं लिया है। विभाग में मंत्री और नौकरशाह, ट्रांसफ़ॉर-पोस्टिंग को लेकर आमने-सामने हैं। मंत्री छापेमारी करते हैं और दोषियों पर कर्रवाई के नाम पर कुछ नहीं होता है। इतना...

‘ढाई आखर प्रेम के’ यात्रा: दुनिया लोग बदलते हैं, यह लोगों को याद दिलाना है

कोविड के सामाजिक दूरी बनाये रखने के दौर के ख़त्म हो जाने पर 4-5 दिसंबर 2021 को भारतीय जन नाट्य संघ (इंडियन पीपुल्स थिएटर एसोसिएशन यानि इप्टा) की राष्ट्रीय समिति की बैठक जालंधर में हुई थी। सत्यजित राय, अमृतराय...

नौकरी से निकाले गए कोविड योद्धाओं ने मोदी सरकार को वापस किये ‘आसमान से बरसाए गए फूल’

नई दिल्ली। दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में स्वास्थ्य कर्मचारियों की छटनी के खिलाफ काफी रोष है। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही 'कोविड योद्धाओं' के ऊपर केंद्र सरकार ने आसमान से फूलों की वर्षा की थी। नौकरी से...

खाद्य सुरक्षा के प्रति मोदी सरकार का रवैया अत्याचारी

'भारत' को भले ही लाभ हो रहा हो, लेकिन भारतीयों को यूक्रेन युद्ध के नतीजों की चिंता करनी चाहिए। भले ही भारत सरकार और अनाज निर्यातक वैश्विक गेहूं के अभाव से लाभ उठाने की कोशिश कर रहे हैं, औसत...

यूक्रेन युद्ध और भूख की आसन्न महामारी-1

(पहले से ही सबसे बुरे आर्थिक झटके और कोविड -19 लॉकडाउन के परिणामस्वरूप अभूतपूर्व भूख और आजीविका के संकट से जूझ रही दुनिया की कमजोर आबादी के लिए यूक्रेन युद्ध अस्तित्व का खतरा साबित हो सकता है। दो भागों...

झारखण्ड की प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा में डिजिटल शिक्षा के झूठ का पर्दाफाश 

कोविड -19 से समाज का हर वर्ग एवं क्षेत्र प्रभावित हुआ है। देखा जाए तो इसका सबसे ज्यादा प्रभाव शिक्षा पर पड़ा है। बता दें कि कोविड काल में शिक्षा पर पड़े प्रभाव को लेकर ज्ञान विज्ञान समिति झारखण्ड व...

दिल्ली: ऐक्टू से जुड़े स्वास्थ्य कर्मचारियों ने कोविड योद्धाओं की छटनी के खिलाफ मोमबत्ती जलाकर किया विरोध-प्रदर्शन

नई दिल्ली। कोविड महामारी के भीषण दौर में जनता की जान बचाने वाले कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी अब अपनी रोजी-रोटी बचाने के लिए संघर्षरत हैं। ज्ञात हो कि लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज व अस्पताल (LHMC) के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों को श्रमायुक्त कार्यालय...

स्वास्थ्य बजट: कोरोना से नहीं लिया सरकार ने कोई सबक

वित्तीय वर्ष 2022-23 के स्वास्थ्य बजट से इस क्षेत्र के जानकार आहत,दुःखी और आक्रोशित हैं। पूर्व स्वास्थ्य सचिव भारत सरकार के. सुजाता राव कहती हैं- "कोविड-19 के कारण 30 लाख लोगों की मृत्यु होने का अनुमान है जो किसी...
- Advertisement -spot_img

Latest News

शीर्ष पदों पर बढ़ता असंतुलन यानी संघवाद को निगलता सर्वसत्तावाद 

देश में बढ़ता सर्वसत्तावाद किस तरह संघवाद को क्रमशः क्षतिग्रस्त कर रहा है, इसके उदाहरण विगत आठ वर्षों में...
- Advertisement -spot_img