Tuesday, October 4, 2022

Etwariya

फुचा महली के बाद अब 12 साल बाद एतवरिया उरांव को नसीब हुई अपनी झारखंड की धरती

पिछली 3 सितंबर, 2021 को 30 वर्षों बाद झारखंड के गुमला जिले के फोरी गांव निवासी 60 वर्षीय फुचा महली (आदिवासी) को अंडमान निकोबार से लाया गया था। वे 30 वर्षों से अंडमान निकोबार में फंसे हुए थे। अपने...
- Advertisement -spot_img

Latest News

कानून के शासन के लिए न्यायपालिका की स्वतंत्रता ज़रूरी: जस्टिस बीवी नागरत्ना

सुप्रीम कोर्ट की जज जस्टिस बीवी नागरत्ना ने शनिवार को कहा कि कानून का शासन न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर बहुत...
- Advertisement -spot_img