Friday, August 12, 2022

Rihai Manch

फर्जी एनकाउंटर में मारे गए कामरान के घर पहुंचा रिहाई मंच

रिहाई मंच अध्यक्ष मुहम्मद शुऐब ने फर्जी एनकाउंटर में मारे गए कामरान के गांव का दौरा किया। उन्होंने इस मौके पर परिजनों को हर संभव सहायता का आश्वासन देते हुए प्रदेश सरकार से एनकाउंटर की निष्पक्ष और पारदर्शी जांच...

ह्रदय रोग की चपेट में आये अतीकुर्रहमान को इलाज के लिए रिहा करो: रिहाई मंच

लखनऊ (उप्र): रिहाई मंच ने मथुरा जेल में कैद हृदय रोग से ग्रस्त अतीकुर्रहमान को इलाज के लिए अंतरिम ज़मानत न दिए जाने को अमानवीय और उसके जीवन के अधिकार का हनन बताया। रिहाई मंच महासचिव राजीव यादव ने कहा कि मेरठ निवासी और...

राज्य के प्रवासी मजदूरों से संवाद में उजागर हुई अनियमितता और भ्रष्टाचार: रिहाई मंच

आजमगढ़ (उप्र)। 12 जून 2021 रिहाई मंच ने पिछले साल सूबे में आए 40 लाख से ज्यादा प्रवासी श्रमिकों के भरण पोषण रोजगार की व्यवस्था के योगी आदित्यनाथ के दावे के बाद पहली कोरोना लहर के लॉक डाउन के...

बेचन की आत्महत्या ने उजागर की पूर्वांचल में किसानों की तबाही: रिहाई मंच

आजमगढ़: रिहाई मंच ने आजमगढ़ के करुई गांव में कर्ज के बोझ से दबे किसान बेचन यादव की आत्महत्या के बाद मृतक के परिजनों से मुलाकात की। मंच ने कहा कि सरकार कि किसानों की आय दुगनी करने जैसे...

आज़मगढ़ में अखबार कार्यालय को ढहाए जाने की घटना को रिहाई मंच ने तानाशाही करार दिया

आजमगढ़: रिहाई मंच ने आजमगढ़ में हिंदी-अंग्रेजी पायनियर अखबार के कार्यालय को ढहाए जाने के बाद मौका स्थल का दौरा किया। मंच ने कहा कि एसडीएम सदर आजमगढ़ द्वारा 12 मार्च को नोटिस जारी करने के बारह दिन बाद...

दुकान और मकान ही नहीं, कानून व्यवस्था को भी सील कर रही प्रदेश सरकार : रिहाई मंच

योगी सरकार की गैर कानूनी कार्रवाइयों की वजह से कानपुर में पुलिस के जवान मारे गए और अब विकास दुबे का घर गिरवाकर जनता के आक्रोश को शांत किए जाने की भी कोशिश गैर कानूनी है। गोली के बदले...

योगी सरकार नहीं चाहती नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन, रिहाई मंच के अध्यक्ष नजरबंद

रिहाई मंच के अध्यक्ष मो. शुएब एडवोकेट को उनके घर में नजरबंद कर दिया गया है। मंच 19 दिसंबर को नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन का आयोजन करने वाला है। अमीनाबाद थाने से रिहाई मंच के अध्यक्ष मो. शोएब एडवोकेट को...
- Advertisement -spot_img

Latest News

भारत छोड़ो आंदोलन के मौके पर नेताजी ने जब कहा- अंग्रेजों को भगाना जनता का पहला और आखिरी धर्म

8 अगस्त 1942 को इंडियन नेशनल कांग्रेस ने, जिस भारत छोड़ो आंदोलन का आगाज़ किया था, उसका विचार सबसे...
- Advertisement -spot_img