Monday, August 15, 2022

translation

अर्जुमंद आरा को अरुंधति रॉय के उपन्यास के उर्दू अनुवाद के लिए साहित्य अकादमी अवार्ड

साहित्य अकादेमी ने अनुवाद पुरस्कार 2021 का ऐलान कर दिया है। राजधानी दिल्ली के रवींद्र भवन में साहित्य अकादेमी के अध्यक्ष डॉ चंद्रशेखर कंबार की अध्यक्षता में कार्यकारी मंडल की बैठक में इसके लिए 22 पुस्तकों को अनुमोदित किया...

हिंदी की किसी पहली लेखिका को अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार

नई दिल्ली। लेखिका गीतांजलि श्री को अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार से नवाजा गया है। वह हिंदी की पहली लेखिका हो गयी हैं जिन्हें यह पुरस्कार मिला है। हालांकि यह पुरस्कार उन्हें उनकी किताब ‘रेत समाधि’ के अनुवाद ‘टांब ऑफ सैंड’...

इतिहास, कविता और अनुवाद से लेकर प्रशासन बेहद विस्तृत था वीरेंद्र बरनवाल का फलक

भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन और आधुनिक भारत के राजनीतिक व्यक्तित्वों के गंभीर अध्येता, साहित्यकार-अनुवादक वीरेंद्र कुमार बरनवाल का कल 12 जून को निधन हो गया। वीरेंद्र बरनवाल ने जहाँ ‘हिन्द स्वराज : नव सभ्यता-विमर्श’, ‘मुस्लिम नवजागरण और अकबर इलाहाबादी का...

डाॅ. श्याम बिहारी राय: प्रकाशन जगत का ध्रुवतारा

डाॅ. श्याम बिहरी राय का जाना मात्र एक प्रकाशक का जाना नहीं है बल्कि यह प्रकाशन के साथ समाज, साहित्य आौर विचार की दुनिया की बड़ी क्षति है। उन्हें सामान्य प्रकाशक के रूप में न कभी देखा गया और...

हिंदी के विभिन्न पक्षों पर विचार-विमर्श के लिए 9-11 जनवरी को दिल्ली में होगा हिंदी सेवियों का अंतरराष्ट्रीय जमावड़ा

नई दिल्ली। दिल्ली में 9-11 जनवरी को ‘हिंदी:वैश्विक परिदृश्य-भाषा, साहित्य और अनुवाद’ विषय पर एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित हो रहा है। दिल्ली विश्वविद्यालय के कालेज इंद्रप्रस्थ महिला महाविद्यालय की ओर से आयोजित होने वाले इस सम्मेलन में दुनिया के विभिन्न विश्वविद्यालयों के...
- Advertisement -spot_img

Latest News

जश्न और जुलूसों के नाम थी आज़ादी की वह सुबह

देश की आज़ादी लाखों-लाख लोगों की कु़र्बानियों का नतीज़ा है। जिसमें लेखक, कलाकारों और संस्कृतिकर्मियों ने भी अपनी बड़ी...
- Advertisement -spot_img