Monday, August 8, 2022

ऑगस्ता पर भी यूटर्न: पहले मोदी ने भ्रष्ट बताया अब हटा दिया बैन

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

“पहले ऑगस्ता भ्रष्ट था,अब भाजपा लॉन्ड्री में धुलकर साफ़ हो गया!” – यह कहना है कांग्रेस नेता राहुल गांधी का। बता दें कि कभी वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले में इटली की कंपनी ऑगस्ता को प्रधानमंत्री मोदी ने भ्रष्ट कंपनी कहा था। लेकिन इटली से लौटने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ऑगस्ता कंपनी पर से सारे बैन हटा लिये हैं।

पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी इस मुद्दे पर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर पूछा कि सरकार और अगस्ता (फिनमेकेनिका) के बीच गुप्त समझौता क्या है? क्या अब उस कंपनी से डील करना ठीक है, जिसे पीएम और सरकार रिश्वत देने वाली फर्जी कपंनी बता चुके हैं।

मुखय विपक्षी दल कांग्रेस ने वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले से जुड़ी इटली की कंपनी ऑगस्ता से बैन हटाने को लेकर केंद्र सरकार को घेरते हुये प्रधानमंत्री पर भ्रष्टाचार को लेकर दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने सवाल खड़ा किया है कि क्या पीएम की इटली यात्रा के दौरान कोई डील हुई है।

पार्टी प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए कहा कि सरकार भ्रष्ट कंपनी पर मेहरबान क्यों है। गौरव वल्लभ ने कहा कि प्रधानमंत्री इटली की कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड को एक भ्रष्टाचारी कंपनी कह चुके हैं। इसके बावजूद सरकार ने पहले इस कंपनी को मेक इन इंडिया प्रोग्राम में हिस्सा लेने की इजाजत दी और अब कंपनी पर लगाए गए सभी तरह के प्रतिबंधों को हटा लिया गया है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री को देश को बताना चाहिए कि अब यह कंपनी भ्रष्ट या नहीं? पीएम को देश को बताना चाहिए कि उनकी इस मामले में कोई सीक्रेट डील हुई है या नहीं। इसके साथ पार्टी ने पीएम से देशवासियों से झूठ बोलने के लिए माफी मांगने की भी मांग की है।

गौरव वल्लभ ने आगे कहा है कि पीएम अभी इटली गए थे। वहां एक बैठक में अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी को लेकर चर्चा हुई। इस बैठक में एनएसए अजित डोवाल और विदेश मंत्री जयशंकर भी शामिल हुए। पीएम के इटली से लौटने के बाद सभी प्रतिबंध हटा दिए गए।

गौरव वल्लभ ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने इस कंपनी को 1620 करोड़ रुपए दिए थे और 2954 करोड़ रुपए वापस ले लिए थे। ऐसे में यह सवाल है कि सरकार की कंपनी को क्लीनचिट देने के बाद इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन में चलेगा या नहीं। क्या सरकार केस वापल ले लेगी।

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

हर घर तिरंगा: कहीं राष्ट्रध्वज के भगवाकरण का अभियान तो नहीं?

आजादी के आन्दोलन में स्वशासन, भारतीयता और भारतवासियों की एकजुटता का प्रतीक रहा तिरंगा आजादी के बाद भारत की...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This