Wednesday, August 10, 2022

देश के 11 राज्यों में फैला ओमिक्रोन वैरियंट

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

भारत में गुरुवार तक कोविड-19 के ओमिक्रोन वैरियंट के 87 मामले सामने आ चुके हैं। ओमिक्रोन के महाराष्ट्र में अब तक सबसे ज्यादा 32 मामले सामने आ चुके हैं। राजस्थान में 17, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 10, केरल में 5, गुजरात में 5, कर्नाटक में 8, तेलंगाना में 7, बंगाल, तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश और चंडीगढ़ में 1-1 मामले सामने आ चुके हैं।
महाराष्ट्र में ओमिक्रोन के सबसे अधिक 32 मामले सामने आ चुके हैं। मुंबई में 16 दिसंबर से 31 दिसंबर तक धारा 144 लागू कर दी गई है। धारा 144 को लेकर मुंबई पुलिस ने गुरुवार को कहा कि और कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के उपायों के तहत क्रिसमस और नए साल की पूर्व संध्या को देखते हुए शहर में बड़े समारोहों पर प्रतिबंध लागू रहेगा।

वहीं कर्नाटक में एक ही दिन में ओमिक्रोन के 5 नए संक्रमित मरीज मिलने की जानकारी राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. सुधाकर के. ने ट्वीट करके दी है।

कर्नाटक के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, कर्नाटक में ओमिक्रोन संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8 हो गई है। विभाग का कहना है कि सभी 5 नए ओमिक्रोन पॉजिटिव मरीजों को कोविशील्ड वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने गुरुवार को मीडिया को बताया, ‘‘दिल्ली में अभी तक ओमिक्रोन स्वरूप के 10 मामले सामने आए हैं। इनमें से एक को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है।’’ उन्होंने बताया कि इनमें से किसी की हालत ‘‘गंभीर’’ नहीं है। एक स्टडी में खुलासा हुआ है कि कोरोना का ओमिक्रोन वैरिएंट डेल्टा की तुलना में 70 गुना तेजी से फैलेगा, हालांकि इससे कोई गंभीर रूप से बीमार नहीं पड़ेगा।
जबकि गुजरात के महसाणा जिले की विजापुर तहसील के एक गांव में एक 41 वर्षीय महिला स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वायरस के ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित पाई गई है। प्रदेश में ओमिक्रोन से संक्रमण का यह पांचवां मामला सामने आया है। 
देश के विभिन्न हिस्सों में कोविड-19 के ओमिक्रोन वैरियंट के बढ़ते मामलों के बीच केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कल गुरुवार को देश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की। गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि कोविड-19 स्थिति से निपटने के लिए सभी केंद्र शासित प्रदेशों की स्वास्थ्य संबंधी तैयारियों की भी समीक्षा की गईl


केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बैठक में भाग लिया, जिसमें केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासनिक अधिकारी भी शामिल हुए। प्रवक्ता ने कहा, ”केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा के लिए केंद्रीय गृह सचिव ने आज केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव के साथ हुई बैठक की अध्यक्षता की। कोविड-19 से निपटने के लिए सभी केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य ढांचे की तैयारी की भी समीक्षा की गई।”

केंद्र बच्चों के लिए वैक्सीन और बूस्टर डोज पर जल्द ले सकता है फैसला

केंद्र सरकार जल्द ही कोरोना टीकाकरण नीति की समीक्षा करेगी। जिसमें बच्चों को वैक्सीन लगाने और बड़ों को बूस्टर डोज देने पर चर्चा की जाएगी। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोविड-19 वैक्सीनेशन का आंकड़ा गुरुवार (16 दिसंबर, 2021) को 135.91 करोड़ के पार पहुंच गया। देश में गुरुवार आज शाम 7 बजे तक वैक्सीन की 62 लाख से ज़्यादा डोज़ लगाई गई हैं। एक अधिकारी ने मीडिया को जानकारी दी है कि फिलहाल हमारी प्राथमिकता यह है कि वयस्कों में दूसरे डोज की कवरेज को बढ़ाया जाए। इसमें वे लोग भी शामिल होंगे जो रिस्क पर हैं। 


गौरतलब है कि ओमिक्रॉन को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट के खिलाफ कोरोना के टीके कम प्रभावी हो सकते हैं। WHO ने कहा कि हल्के लक्षण के चलते ओमिक्रॉन को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता, यह अन्य वैरिएंट से ज्यादा संक्रामक है।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

शिशुओं का ख़ून चूसती सरकार!  देश में शिशुओं में एनीमिया का मामला 67.1%

‘मोदी सरकार शिशुओं का ख़ून चूस रही है‘ यह पंक्ति अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकती है पर मेरे पास इस बात...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This