Tuesday, December 6, 2022

आय

सपनों के सहारे जीता-हारता किसान

तुम्हारी फाइलों में गांव का मौसम गुलाबी है,मगर यह आंकड़े झूठे हैं यह दावा किताबी है! अदम गोंडवी की इन लाइनों में प्रासंगिकता के साथ किसान की दशा का प्रतिबिंब दिखाई देता है। किसान की परिभाषा के अंतर्गत खेत में...

भारतीय कृषि को बर्बाद कर देश के आर्थिक आधार को नेस्तनाबूद कर देना चाहता है अमेरिकी थिंक टैंक

20 सितंबर 2020 को जब राज्यसभा में बेहद अलोकतांत्रिक तरीके से सदन की समस्त संसदीय मर्यादाओं को ताख पर रख कर, तीनों किसान विधेयकों को उपसभापति हरिवंश ने पारित घोषित किया तो ऐसा बिल्कुल नहीं लगा कि वे किसी...
- Advertisement -spot_img

Latest News

‘हिस्टीरिया’: जीवन से बतियाती कहानियां!

बचपन में मैंने कुएं में गिरी बाल्टियों को 'झग्गड़' से निकालते देखा है। इसे कुछ कुशल लोग ही निकाल...
- Advertisement -spot_img