Monday, August 15, 2022

Banaras

हे परमात्मा बनारस को बुरी नजर से दूर रखना: गालिब

पहले मिर्जा गालिब की लिखी यह पंक्तियां पढ़ें, तआलल्लाह बनारस चश्म ए बद'दूर बहिश्त ए खुर्रम ओ फिरदौस ए मामूर, इबादतख़ान ए नाकूसियाँ अस्त ए हमाना काबा ए हिन्दोस्तां अस्त ! अब इसका हिंदी अनुवाद, हे परमात्मा, बनारस को बुरी...

भदोही के बाहुबली विधायक विजय मिश्रा सहित तीन के ख़िलाफ़ बलात्कार का मामला दर्ज

निषाद पार्टी के विधायक विजय मिश्रा और उनके बेटे समेत तीन लोगों के खिलाफ एक गायिका की शिकायत पर रविवार को बलात्कार का मामला दर्ज किया गया है। ज्ञानपुर सीट से बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के खिलाफ भदोही के...

पीएम के संसदीय क्षेत्र बनारस में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को कांग्रेसियों ने दिखाए काले झंडे

वाराणसी। हाथरस की घटना को लेकर पूरे देश में विरोध प्रदर्शन जारी हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी इस मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का घेराव किया। उन्होंने स्मृति ईराना का...

लोकमोर्चा ने कृषि कानूनों को बताया फासीवादी हमला, बनारस के बुनकर भी उतरे किसानों के समर्थन में

बदायूं। लोकमोर्चा ने मोदी सरकार के कृषि विरोधी कानूनों को देश के किसानों पर फासीवादी हमला बताया है। संगठन ने कहा है कि कृषि कानूनों को संसद में असंवैधानिक तरीके से पारित कराने के लिए संवैधानिक लोकतंत्र का गला...

यूपी सरकार आखिर चाहती क्या है? क्या उप्र में अलग कानून चल रहा है?

महामारी के दौर में संसद का बहुप्रतीक्षित सत्र आज सोमवार से शुरू हुआ। यह लोकतंत्र का तकाजा है और संसदीय लोकतंत्र के इतिहास की लंबे अरसे से चली आ रही परंपरा जैसी है कि संसद सत्र के दौरान विशेषकर...

बनारस के बुनकरों ने स्मृति ईरानी को लिखा पत्र, कहा- हाथों से छिना काम, गुजर-बसर के लिए दिया जाए राहत पैकेज

ऐपवा के आह्वान पर सोमवार को बनारस की बुनकर महिलाओं ने परिवार के साथ घर और मोहल्ले से अपनी वाजिब मांगो के साथ आवाज बुलंद की। ऐपवा ने केंद्रीय बाल विकास मंत्री और कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी को उनकी...

पीएम के संसदीय क्षेत्र के बुनकर भुखमरी की कगार पर, केंद्र और यूपी सरकार ने नहीं लिया हाल

हमके साड़ी लियाय दा मदनपुरी पिया,रंग रहे कपूरी पिया ना ये कजरी लगभग हर उस व्यक्ति ने सुनी होगी, जिसकी संगिनी ने उससे हठ किया होगा बनारसी साड़ी लाने के लिए। बच तो अपने कवि काका हाथरसी साहब भी नहीं...

वोट तो चाहिए, लेकिन मजदूर नहीं

वाराणसी जिले में असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों की संख्या लाखों में है। इसमें घरेलू कामगार, निर्माण मजदूर, रिक्शा चालक, पटरी दुकानदार, हैंडलूम और पॉवरलूम के मजदूर, कारपेंटर, चमड़ा का काम करने वाले श्रमिक इत्यादि शामिल हैं।...

यूपी सरकार किसी भी कीमत पर प्रदर्शन रोकने पर आमादा, अब तक 11 प्रदर्शनकारियों की मौत, नेट और स्कूल-कॉलेज बंद

यूपी के तमाम जिलों में बीस दिसंबर को हुए प्रदर्शनों के दौरान पुलिस झड़प में मरने वालों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। देश भर में अभी भी सीएए और एनआरसी के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन जारी है। इन विरोध-प्रदर्शनों...
- Advertisement -spot_img

Latest News

आज़ादी के बाद भी आज़ादी के लिए लड़ते रहे, सरहदी गांधी

"आपने हमें भेड़ियों के आगे फेंक दिया।” बंटवारे की खबर मिलने के बाद, यह गंभीर और कड़ी प्रतिक्रिया, थी...
- Advertisement -spot_img