Monday, August 15, 2022

galib

हे परमात्मा बनारस को बुरी नजर से दूर रखना: गालिब

पहले मिर्जा गालिब की लिखी यह पंक्तियां पढ़ें, तआलल्लाह बनारस चश्म ए बद'दूर बहिश्त ए खुर्रम ओ फिरदौस ए मामूर, इबादतख़ान ए नाकूसियाँ अस्त ए हमाना काबा ए हिन्दोस्तां अस्त ! अब इसका हिंदी अनुवाद, हे परमात्मा, बनारस को बुरी...
- Advertisement -spot_img

Latest News

आज़ादी के बाद भी आज़ादी के लिए लड़ते रहे, सरहदी गांधी

"आपने हमें भेड़ियों के आगे फेंक दिया।” बंटवारे की खबर मिलने के बाद, यह गंभीर और कड़ी प्रतिक्रिया, थी...
- Advertisement -spot_img