Saturday, October 1, 2022

pm

प्रधानमंत्री महिलाओं का सम्मान करने को कहते हैं और भाजपाई उनकी सुनते ही नहीं! 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 2015 में 22 जनवरी को दिया गया ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का नारा अब सात साल पुराना हो चुका है। उनकी सरकार ने इस नारे को महज प्रोपोगैंडा के लिए न इस्तेमाल किया होता और...

सुभाष चंद्र बोस के मामले में तथ्यों को तोड़-मरोड़ रहे हैं मोदी

इस साल 8 सितंबर, 2022 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सुभाषचन्द्र बोस के विचारों और उनकी राजनीति को तोड़-मरोड़ कर प्रस्तुत करने का एक और अवसर मिल गया। नेताजी की प्रतिमा का अनावरण करते हुए मोदी ने कहा कि...

माओवाद व्यवस्था की विसंगतियों की उपज है, वह गोली से नहीं मरेगा

गृह मंत्रालय की ताजा आधिकारिक घोषणा के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वामपंथी उग्रवाद मुक्त भारत की परिकल्पना को साकार करने तथा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की उग्रवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत गृह मंत्रालय...

कागज़ी आजादी और गुलामी की जड़ें

राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक जाती सड़क का नाम था -'राजपथ'। इसको बदलकर अब इसका नाम 'कर्तव्य पथ' रख दिया गया है। बात इतनी सी है कि प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर जो परेड...

पीएम मोदी का बेहद करीबी है अश्लील वीडियो लीक विवाद से घिरी चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी का मालिक

मोहाली स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में लड़कियों के कथित आपत्तिजनक वीडियो लीक होने का मामला लगातार गरमाता जा रहा है। हजारों स्टूडेंट मामले में निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर यूनिवर्सिटी प्रशासन के सामने सड़कों पर उतरकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे...

शैक्षणिक कट्टरता ने छीना मुस्लिम महिलाओं से शिक्षा का अधिकार: हिजाब प्रकरण पर पीयूसीएल

इस बात में कोई शक़-ओ-शुबह नहीं है कि धार्मिक कट्टरता समाज को प्रतिगामी, रुढ़िवादी और संकीर्ण बनाती है। और इस बात में भी दो राय नहीं है कि समाज को प्रगतिशील, परिवर्तनकामी और उदार बनाना है तो सबको शिक्षित...

 महिलाओं से फिर-फिर हैवानियत: पितृसत्ता की जड़ें उखाड़े बिना त्राण नहीं 

देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस को अभी कुल मिलाकर पखवाड़ा भर ही बीता है। इसलिए पाठकों को याद होगा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उस दिन लालकिले की प्राचीर से अपने लम्बे सम्बोधन में स्वतंत्रता संग्राम में महिलाओं के योगदान...

राजनीतिक चंदे में पारदर्शिता के बगैर नहीं लाया जा सकता है सार्वजनिक जीवन में भ्रष्टाचार पर अंकुश 

2014 का चुनाव भ्रष्टाचार के मुद्दे पर लड़ा गया था क्योंकि इंडिया अगेंस्ट करप्शन आंदोलन की जड़ में, तत्कालीन यूपीए सरकार पर, भ्रष्टाचार के विभिन्न आरोपों के धब्बे थे। गुजरात मॉडल, विकास, और भ्रष्टाचार मुक्त देश आदि शिगूफे हवा...

आखिर कब तक गौवंशी चरते रहेंगे किसानों की ज़िदगी?

“मेरे ये शब्द लिखकर रखिए, ये मोदी बोल रहा है और आपके आशीर्वाद के साथ बोल रहा है। जो पशु दूध नहीं देता है, उसके गोबर से भी आय हो, ऐसी व्यवस्था मैं आपके सामने खड़ी कर दूंगा।” नरेंद्र मोदी...

प्रधानमंत्री का स्वतंत्रता दिवस भाषण: कथनी से ज्यादा करनी का विद्रूप 

आदरणीय प्रधानमंत्री जी का स्वतंत्रता दिवस उद्बोधन कुछ ऐसा था कि जो कुछ उन्होंने कहा वह चर्चा के उतना योग्य नहीं है जितना कि वे मुद्दे हैं जिन पर उनका भाषण केंद्रित होना चाहिए था। वर्ष 2017 में  प्रधानमंत्री जी...
- Advertisement -spot_img

Latest News

सोडोमी, जबरन समलैंगिकता जेलों में व्याप्त; कैदी और क्रूर होकर जेल से बाहर आते हैं: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कहा कि भारत में जेलों में अत्यधिक भीड़भाड़ है, और सोडोमी और जबरन समलैंगिकता...
- Advertisement -spot_img