Monday, August 8, 2022

sudama

जयंती पर विशेष: अकेले को सामूहिकता और समूह को साहसिकता देने वाले धूमिल

सुदामा पाण्डेय यानी धूमिल ताउम्र जिन्दा रहने के पीछे मजबूत तर्क तलाशते रहे। कहते रहे ‘तनों अकड़ो अपनी जड़ें पकड़ो, हर हाथ में गीली मिट्टी की तरह हां-हां मत करो।’ मौजूदा जनतंत्र को मदारी की भाषा कहने वाले धूमिल...

सीपीआई (एमएल) के एक और नेता की भोजपुर में हत्या

पटना। सीपीआई (एमएल) के एक चर्चित नेता की भोजपुर में हत्या कर दी गयी है। कॉ. झरी उर्फ सुरेश पासवान पार्टी के जुझारू नेता थे। भोजपुर के बिहटा में स्थित तरारी क्षेत्र के रहने वाले पासवान सामंती ताकतों की आंख का कांटा...
- Advertisement -spot_img

Latest News

हर घर तिरंगा: कहीं राष्ट्रध्वज के भगवाकरण का अभियान तो नहीं?

आजादी के आन्दोलन में स्वशासन, भारतीयता और भारतवासियों की एकजुटता का प्रतीक रहा तिरंगा आजादी के बाद भारत की...
- Advertisement -spot_img