Tuesday, August 9, 2022

चरण सिंह

कृषि कानून नहीं, यह मोदी की अडानी-अंबानी को 62 लाख करोड़ की सौगात है!

मोदी सरकार किसानों को व्यापारी बनाने का नाम देकर पूंजीपतियों की मैनेजमेंट समिति, बड़े पूंजीपतियों को पूंजी निवेश और बेरोकटोक लाभ कमाने के अवसर प्रदान करने के लिए कृषि क्षेत्र का लगभग 62 लाख करोड़ का व्यापार सोने की...

पाटलिपुत्र की जंगः बागियों ने उड़ाई नीतीश की नींद

बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। सभी दल पूरी तरह से चुनावी समर में उतर चुके हैं। यह चुनाव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए कड़ी परीक्षा है। नीतीश कुमार जहां गत चुनाव में अपनी मुख्य विपक्षी पार्टी...

अभी तक चौराहों पर क्यों नहीं लगे हाथरस गैंग रेप के आरोपियों के पोस्टर?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का मानना है कि अपराधियों का सामाजिक बहिष्कार करने से आपराधिक मामलों पर अंकुश लगाया जा सकता है। वह अपराधियों के पोस्टर विभिन्न चौराहों पर लगाने के पक्ष में हैं। विशेष रूप से बलात्कारियों को...

कृषि विधेयक: अपने ही खेत में बंधुआ मजदूर बन जाएंगे किसान!

सरकार बनने के बाद जिस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हठधर्मिता दिखाते हुए मनमाने फैसले लिए, उससे न केवल उद्योग धंधे चौपट हो गए हैं बल्कि छोटे-मोटे कारोबारी भी सड़क पर आ गए हैं। किसान-मजदूर और युवा बदहाली...

झारखंडः पत्थलगड़ी आंदोलन के केस वापस लेने का फैसला क्रांतिकारी कदम

जब देश में केंद्र के साथ ही कई प्रदेशों की सत्ता पर काबिज एनडीए सरकारें आंदोलनकारियों के खिलाफ दमनात्मक नीतियों का इस्तेमाल कर रही हैं, ऐसे में हेमंत सोरेन ने झारखंड का मुख्यमंत्री बनते ही पहली कैबिनेट की बैठक...

मोदी-शाह के मनमाफिक करने और डर की सियासत पर लगा अंकुश

राम मंदिर निर्माण का मामला हो या हिंदुत्व का मामला हो, धारा 370 हटाना हो, तीन तलाक या फिर नागरिकता संशोधन कानून, हर मामले में भाजपा का एकमात्र एजेंडा मुस्लिमों के खिलाफ माहौल बनाकर अपने परंपरागत हिन्दू वोट बैंक...

श्रमिकों को बंधुआ बनाने की तैयारी में मोदी सरकार

हाल ही में केंद्र सरकार ने इंडस्ट्रियल रिलेशन कोड बिल लोकसभा में पेश किया। यह बिल श्रमिकों को और मुश्किल में डालने वाला है। मोदी सरकार ने पूंजपीतियों को राहत देते हुए और श्रमिक यूनियनों पर शिकंजा कसते हुए...

18-18 घंटे ड्यूटी, छेड़खानी और अंत में छटनी, महिला क्रू सदस्यों के लिए जहालत का सफर साबित हुई पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस

तेजस की लांचिंग पर मोदी सरकार ने ऐसा दर्शाया था कि जैसे रेलवे को प्राइवेट हाथों में देने से अब रेलवे की कायाकल्प ही हो जाएगी। निजीकरण की पैरवी करने वाले विशेष रूप से देख लें कि भारतीय रेलवे...

कार्पोरेट घरानों को देश सौंपने की शुरुआत

लोकतंत्र में सरकारें इसलिए बनती हैं कि देश को संविधान के दायरे में रहकर एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया के साछ चलाया जा सके। देश को चलाने में सरकारी विभागों के साथ ही सरकारी कंपनियों का सुचारु रूप से चलाना बहुत...

अराजकता से ही चलेगी सियासत की दुकान!

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट से शुरू हुए विवाद में पुलिस और वकील दोनों की ओर से अपनी ताकत का इजहार कर दिया गया है। पहले वकीलों ने हड़ताल कर अपनी पॉवर दिखाई तो बाद में पुलिस वालों ने भी...

About Me

33 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

बिहार में सियासत करवट लेने को बेताब

बिहार में बीजेपी-जेडीयू की सरकार का दम उखड़ने लगा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस दमघोंटू वातावरण से निकलने को...