Sunday, September 25, 2022

बाबरी मस्जिद ध्वंस के सभी आरोपी बरी, कोर्ट ने कहा-साजिश का कोई प्रमाण नहीं

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

नई दिल्ली। बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में कोर्ट का फैसला आ गया है। लखनऊ स्थिति स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने कहा है कि बाबरी मस्जिद का ध्वंस किसी योजनाबद्ध साजिश का हिस्सा नहीं था। इसके साथ ही कोर्ट ने आरोपी एलके आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती को बाइज्जत बरी कर दिया है। बचाव पक्ष के वकील केके मिश्रा ने बताया कि उन्हें सबूत न होने के चलते छोड़ा गया है।

यह फैसला 28 सालों बाद आया है। जब 6 दिसंबर, 1992 को पगलाए कारसेवकों की एक बर्बर भीड़ ने बाबरी मस्जिद को दिनदहाड़े ढहा दी थी। उसके बाद देश के कई हिस्सों में भीषण दंगे हुए थे। इस मामले में कुल 49 लोग आरोपी बनाए गए थे जिनमें अभी 32 जिंदा हैं और बाकी की मौत हो चुकी है।

हालांकि बीजेपी के वरिष्ठ नेता कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए। जबकि कोर्ट ने उनको मौजूद रहने का आदेश दिया था। विनय कटियार, धरमदास, वेदांती, लल्लू सिंह, चंपत राय और पवन पांडेय फैसले के समय कोर्ट में मौजूद थे। जबकि आडवाणी, जोशी और सह आरोपी नृत्य गोपाल दास के 80 वर्ष से ऊपर और उमा भारती तथा सह आरोपी सतीश प्रधान के अस्पताल में होने के चलते कोर्ट में नहीं उपस्थित हो सके। इस तरह से फैसले के समय 32 में 26 आरोपी मौजूद थे।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

इविवि: फीस वृद्धि के खिलाफ आंदोलन के समर्थन में उतरे बुद्धिजीवी और पुरा छात्र, विधानसभा में भी गूंजी आवाज

प्रयागराज। 400 फासदी फ़ीस वृद्धि के ख़िलाफ़ इलाहबाद यूनिवर्सिटी के कैंपस में ज़ारी छात्र आंदोलन आज 19वें दिन में...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -