Sunday, May 22, 2022

हिंदुस्तान के किसान-मजदूरों के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए तो मोदी क्या बला हैं: राहुल गांधी

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

“हिंदुस्तान के किसान, मजदूरों के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए तो नरेंद्र मोदी कौन हैं। कानून तो वापस लेने ही पड़ेंगे। इसलिए कह रहा हूं कि आज ले लो ताकि देश आगे बढ़े।।। लेकिन जिद कर रहे हैं।” ये बातें राजस्थान के गंगानगर जिले के पदमपुर कस्बे में किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है। 

इतना ही नहीं किसान आंदोलन को पूरे देश का आंदोलन बताते हुए उन्होंने कहा कि इसका दायरा अभी और बढ़ेगा। उन्होंने आगे कहा “ये शर्म की बात है कि सरकार लगातार किसानों को अनसुना कर रही है। यह आंदोलन फैलेगा। यह आंदोलन किसानों से शहरों में फैलेगा। इसलिए मैं नरेंद्र मोदी से कह रहा हूं कि उन्हें किसानों की बात सुन लेनी चाहिए। अंत में करना ही पड़ेगा।”

बता दें कि किसान आंदोलन को धार देने के लिये पूर्व कांग्रेस  अध्यक्ष राहुल गांधी राजस्थान के दो दिवसीय दौरे पर आज हनुमानगढ़ पहुंचे हैं। 

इससे पहले पीलीबंगा में किसान महापंचायत को संबोधित करते हुये कांग्रेस नेता ने कहा कि “मैं आज आपको समझाऊंगा कि मोदी 3 कानून क्यों ला रहे हैं? पहला कानून- मंडी को मारने का, मंडी को खत्म करने का कानून है। दूसरा कानून- कोई भी उद्योगपति पूरे देश के गन्ने को खरीद कर स्टॉक कर पायेगा। यानी दाम को कंट्रोल कर पायेगा। यह कानून लागू होगा तो जमाखोरी शुरू हो जायेगी। और तीसरा कानून – जब एक ही कंपनी देश के सारे फल-सब्जी बेचेगी जो आज छोटे व्यापारी बेचते हैं तो उनका क्या होगा? ये सब लोग बेरोजगार हो जायेंगे। ये किसानों पर आक्रमण पर आक्रमण नहीं है, यह हिंदुस्तान की 40 प्रतिशत जनता पर आक्रमण है। यदि ये तीन कानून लागू हो गये तो किसान तो गया, लेकिन छोटे व्यापारी भी गए, हिंदुस्तान के 40 प्रतिशत लोग बेरोजगार हो जायेंगे।

वहीं किसान महापंचायत में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि  “मोदी जी को पूरे मुल्क में एक ही नेता चुनौती दे सकते हैं वो हैं राहुल गांधी। उन्होंने कहा कि पूरे देश के किसान राहुल गांधी की ओर देख रहे हैं। जिस तरह से वो किसानों की बात उठा रहे हैं।”

कल राजस्थान दौरे के दूसरे दिन कांग्रेस नेता राहुल गांधी रूपनगढ़- किसान ट्रैक्टर रैली में शामिल होकर संबोधित करेंगे इसके बाद वो मकराना में किसान महापंचायत को संबोधित करेंगे।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

- Advertisement -

Latest News

सरकारी दावों पर पानी फेरता झारखंड के पानी का सच

कहा जाता है कि पहाड़ से पानी का रिश्ता सदियों पुराना है। प्रकृति के इसी गठबंधन की वजह से...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This