Wednesday, August 10, 2022

Chhattisgarh

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने शुरू की छत्तीसगढ़ सरकार की घेरेबंदी

रायपुर। छत्तीसगढ़ में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाएं कांग्रेस पर चुनाव में किए गए वादे नहीं निभाने का आरोप लगा रही हैं। कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन्हें महंगाई के अनुपात में प्रति माह मानदेय भी नहीं मिलता है। इसके...

भिलाई के शहीद मजदूरों को लोगों ने दी श्रद्धांजलि

भिलाई। छत्तीसगढ़ में भिलाई के लोग उस काले दिन को आज भी नहीं भूल पाएं है जब 17 निर्दोष मजदूरों की हत्या कर दी गयी थी। इस घटना ने ना केवल भिलाई को बल्कि देश को झकझोर कर रख...

ग्राउंड रिपोर्ट: अबूझमाड़ के मूल निवासियों को शहर आने पर कभी भी गिरफ्तारी की रहती है आशंका

नारायणपुर। छत्तीसगढ़ के अबूझमाड़ में रहने वाले मूल निवासियों को शहर आने पर सुरक्षाबल के जवान कथित तौर पर जेलों में भरने का काम कर रहे हैं। यह आरोप नारायणपुर जिले के ओरछा ब्लॉक में स्थित ग्राम पंचायत कोड़नार...

छत्तीसगढ़: भूमि अधिकार आंदोलन के तहत आयोजित हुआ राज्य स्तरीय सम्मेलन 

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पास्टोरल सेंटर में भूमि अधिकार आंदोलन का राज्य सम्मेलन आयोजित हुआ। 28 जून को आयोजित होने वाले इस सम्मेलन में देश के 14 राज्यों से आए 500 से ज़्यादा जनवादी संघर्षों के साथियों/...

छत्तीसगढ़ स्पेशल: आखिर ‘हिंदू-राष्ट्र’ वादियों में डिलिस्टिंग को लेकर इतनी उत्सुकता क्यों?

रायपुर। जून 5, 2022 को छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिला मुख्यालय में धर्मान्तरण के विरोध में जनजाति सुरक्षा मंच के बैनर तले एक रैली निकालकर डिलिस्टिंग के सन्दर्भ में एक विरोध प्रदर्शन हुआ। डिलिस्टिंग का तात्पर्य उन आदिवासियों से है,...

हरियाणा से उम्मीदवार क्यों नहीं बने सुरजेवाला? छत्तीसगढ़, राजस्थान, महाराष्ट्र से हकमारी क्यों?

कांग्रेस ने राज्यसभा उम्मीदवारों की जो सूची जारी की है उसे देखकर खुद कांग्रेसी हैरान हैं। ऐसा नहीं है कि इनमें से कोई नाम नया है या कोई उम्मीदवार अयोग्य है। बल्कि, हैरानी की वजह है कि राजनीतिक नजरिए...

खतरे में ‘छत्तीसगढ़ का फेफड़ा’: हसदेव को बचाने के लिए दिल्ली से हुआ आह्वान

नई दिल्ली। फ्रेंड्स ऑफ हसदेव अरण्य की ओर से 25 मई यानि कल दिल्ली स्थित प्रेस क्लब में दोपहर 12:30 बजे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई। जिसमें हसदेव को बचाने के मसले पर बुद्धिजीवियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और तमाम...

हसदेव अरण्य: लाखों पेड़ों की कटाई के खिलाफ उठ खड़े हुए लोग

रायपुर। छत्तीसगढ़ में विकास और जीवन के बीच संघर्ष की स्थिति बन गई है। एक ओर जहां सत्ता और कॉरपोरेट कोयला उत्खनन के लिये जंगल काटने की फिराक में हैं तो दूसरी ओर आम ग्रामीण संविधान में प्रदत्त शक्तियों...

बस्तर का बहिष्कृत भारत-3: धर्मान्तरण बनाम घर वापसी

छत्तीसगढ़ के दक्षिण में स्थित बस्तर संभाग में आज “धर्मान्तरण बनाम घर वापसी” का मुद्दा काफी गरमाया हुआ है। देश भर के हिंदू संगठनों का मानना है कि बड़ी संख्या में दलित, आदिवासी, गरीब और दूर-दराज इलाकों में रहने...

दंडकारण्य की लड़ाई आज भी लड़ रहे हैं आदिवासी, सलवा जुडूम के 17 साल बाद एक बार फिर पलायन को विवश

“मैंने अभी इंटरमीडिएट परीक्षा पास की है। मैं स्नातक की पढ़ाई करना चाहता हूँ लेकिन मैं कर नहीं पा रहा हूँ। क्योंकि मुझे सर्टिफिकेट नहीं दिया गया। मेरे माता पिता छत्तीसगढ़ में हैं। मैं आंध्र प्रदेश में शरण लिया...
- Advertisement -spot_img

Latest News

शिशुओं का ख़ून चूसती सरकार!  देश में शिशुओं में एनीमिया का मामला 67.1%

‘मोदी सरकार शिशुओं का ख़ून चूस रही है‘ यह पंक्ति अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकती है पर मेरे पास इस बात...
- Advertisement -spot_img