Sunday, September 25, 2022

Congress government

सिलगेर आंदोलन के 134 दिन, सुराक्षाबलों का कैंप हटाने के लिए एक बार फिर जुटे ग्रामीण

बस्तर(छग): छत्तीसगढ़ में लगातार बस्तर के आदिवासी आन्दोलनरत हैं, बस्तर के सुकमा-बीजापुर बॉर्डर से लगे सिलगेर में कैंप के विरोध में पिछले 134 दिनों से ग्रामीणों का आन्दोलन जारी है। हालांकि बुधवार से आंदोलन ने जोर पकड़ लिया है।...

छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन के प्रतिनिधिनियों ने की मुख्यमंत्री और राज्यपाल से मुलाकात, कहा-आदिवासियों पर दमन बंद हो

रायपुर(छ.ग.)। छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन के एक प्रतिनिधिमंडल ने दिनांक 08 जून 2021 को प्रदेश के राज्यपाल और मुख्यमंत्री से मुलाकात की और उन्हें ज्ञापन सौंपकर आदिवासियों पर हो रहे दमन को रोकने की मांग की। आंदोलन के नेताओं ने...

छत्तीसगढ़ः मीडियाकर्मियों ने मार्च निकालकर मांगा न्याय, कहा- पत्रकारों की पिटाई करने वालों को बचा रही है सरकार

छत्तीसगढ़ में पत्रकारों पर हमले का मामला बड़ा मुद्दा बन गया है। न्याय की मांग को लेकर रायपुर में रविवार को ‘पत्रकार न्याय यात्रा’ निकाली गई। इसमें सिर्फ छत्तीसगढ़ के पत्रकार ही नहीं बल्कि मध्य प्रदेश और ओडिशा के...

छत्तीसगढ़ः हमले को लेकर अनशन पर बैठे पत्रकार की हालत बिगड़ी, पुलिस ने अस्पताल में जबरन कराया भर्ती

रायपुर। कांकेर जिले में पत्रकार पर हमले का मामला दिन-ब-दिन गरमाता जा रहा है। आरोपी कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर राजधानी रायपुर में पत्रकारों का आठ दिनों से आमरण अनशन जारी है। इस बीच अनशन...

कांकेर ने जो घंटी बजाई है, क्या भूपेश बघेल ने सुना उसे!

आप पत्रकार हैं तो यह फोटो देखें, नहीं हैं तो भी देखें। यह वरिष्ठ पत्रकार की है। इनकी बेरहमी से पिटाई हुई है। थाने से निकाल कर। यह घटना छत्तीसगढ़ के कांकेर की है। कांग्रेस के शीर्ष पर बैठीं...

छत्तीसगढ़ः सरकारी नीतियों पर सवाल उठाने वाले पत्रकारों का हो रहा है आखेट

रायपुर। छत्तीसगढ़ में सरकारी नीतियों के खिलाफ कलम चलाने वाले पत्रकारों का लगातार उत्पीड़न हो रहा है। ऐसे पत्रकारों को फर्जी मुकदमे में फंसाकर जेल भी भेजा जा रहा है। पीयूसीएल ने राज्य सत्ता के द्वारा पत्रकारों की प्रताड़ना...

कार्पोरेट लूट जारी रखने को नहीं लागू हो रहा पेसा एक्ट

छत्तीसगढ़ के बस्तर में पेसा कानून अधिनियम 1996 का स्थापना दिवस बुरुंगपाल गांव में मनाया गया। संविधान स्तंभ एवं भारतीय संविधान की प्रस्तावना का वाचन किया गया। पेसा एक्ट बने 24 साल हो गए हैं और राज्य सरकार पेसा एक्ट की क्रियान्वयन...

अडानी की पैरोकार बनी छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार, कोल खनन परियोजना के खिलाफ 52 दिनों से जारी है आंदोलन

छत्तीसगढ़ में हसदेव अरण्य के ग्रामीण पिछले 52 दिनों से अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। उनकी यह लड़ाई महत्वपूर्ण वन क्षेत्र को बचाने, अपनी आजीविका, संस्कृति और प्राकृतिक धरोहर को बचाने, संविधान में आदिवासियों के अधिकारों की...
- Advertisement -spot_img

Latest News

इविवि: फीस वृद्धि के खिलाफ आंदोलन के समर्थन में उतरे बुद्धिजीवी और पुरा छात्र, विधानसभा में भी गूंजी आवाज

प्रयागराज। 400 फासदी फ़ीस वृद्धि के ख़िलाफ़ इलाहबाद यूनिवर्सिटी के कैंपस में ज़ारी छात्र आंदोलन आज 19वें दिन में...
- Advertisement -spot_img