Wednesday, August 10, 2022

Dalit

 ‘हिमालय दलित है’ कविता के परंपरागत प्रतिमानों को ध्वस्त करता संग्रह

‘हिमालय दलित है’ मोहन मुक्त का पहला कविता संग्रह है। संग्रह की कविताएं धधकते लावे की तरह हैं। यहां तक कि कवि की प्रेम कविताओं से भी एक आंच निकलती है। ऐसे लगता है कि कवि किसी ज्वालामुखी के...

बहुजन ढो रहे हैं हिंदुत्व की कांवड़

प्रयागराज। बड़े-बड़े बैनरों से सजा डीजे, मालवाहक वैन और ट्रैक्टरों पर निकलने वाली कांवड़ यात्रा सावन के पहले पाख के साथ ही खत्म हो गई। इसके साथ ही उत्पात, अव्यवस्था और सड़कों पर भगवा वर्चस्व का एक चैप्टर भी...

महिलाओं की मुक्ति का बिगुल है हिंदू कोड बिल

प्रयागराज। “महिलाओं को उनके अधिकार के साथ सशक्त रूप से खड़ा किया जाये यही हिंदू कोड बिल का उद्देश्य था। इसने महिलाओं के अधिकारों पर ठप्पा लगाया है। महिलाओं की मुक्ति का बिग़ुल है हिंदू कोड बिल। हिंदू कोड...

जिंदा बचने के लिये अधिक बच्चे पैदा करते हैं आदिवासी, दलित और पसमांदा समाज के हाशिए के लोग

परसों घोषित हुये राष्ट्रपति चुनाव परिणाम में आरएसएस भाजपा के संख्या बल वाली विधायिका ने द्रौपदी मुर्मू की शक्ल में एक आदिवासी महिला को देश का पहला नागरिक बना दिया। द्रौपदी मुर्मू के तीन बच्चे (2 पुत्र, 2 पुत्री)...

मिर्जापुर में आकाशीय बिजली का कहर,  3 की मौत और 3 झुलसे

मिर्ज़ापुर। उत्तर प्रदेश के अंतिम छोर पर स्थित पहाड़, जंगल व अति पिछड़े जिले मिर्जापुर में बरसात से भले ही अभी लोगों को गर्मी और उमस से राहत नहीं मिल पाई है, लेकिन आकाशीय बिजली का ज़रूर खौफ देखने...

अब क्यों नहीं संभल रहा कश्मीर?

नरेन्द्र मोदी सरकार पिछले साल से ही, जब कश्मीर घाटी में कश्मीरी पंडितों की टारगेट किलिंग का नृशंस सिलसिला शुरू हुआ, बारम्बार दावा करती आ रही है कि वहां संक्रिय आतंकवादी सुरक्षाबलों द्वारा चलाये जा रहे सफाया अभियानों से...

सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम को मोदी के नाम किए जाने के खिलाफ आंदोलन का ऐलान

अहमदाबाद। इस वर्ष के अंत में गुजरात विधानसभा चुनाव होने हैं। राज्य में नरेंद्र मोदी के बाद भूपेन्द्र पटेल तीसरे मुख्यमंत्री हैं। रिकॉर्ड पर भले ही भूपेन्द्र पटेल मुख्यमंत्री हैं। परन्तु गुजरात बीजेपी में मोदी और शाह के बाद...

नये रेडिकल विकल्प की तलाश में है बहुजन राजनीति

डा. अंबेडकर दलित राजनीति के जनक माने जाते हैं। उन्होंने ही गोलमेज कांफ्रेंसों में दलितों को राजनीतिक अधिकार दिए जाने की मांग उठाई तथा गांधी जी के कड़े विरोध के बावजूद दलितों को हिंदुओं से अलग अल्पसंख्यक वर्ग का...

सत्ता के निशाने पर क्यों हैं दलित प्रोफेसर

इन दिनों दलित प्रोफेसर भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र व राज्य सरकारों के निशाने पर हैं। सरकार, सत्ताधारी पार्टी और संगठन तथा प्रशासन का संरक्षण प्राप्त भगवा जमात भी इन प्रोफेसरान पर जानलेवा हमला कर रही है। आखिर दिल्ली...

गार्डों की मौजूदगी में लखनऊ विश्वविद्यालय के दलित प्रोफेसर रविकांत पर फिर हमला

नई दिल्ली/लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय के दलित प्रोफेसर रविकांत चंदन पर फिर हमला हुआ है। आज दोपहर जब वह प्रॉक्टर आफिस के सामने से गुजर रहे थे तभी एक छात्र नेता ने गालियां देते हुए उनके ऊपर हमला बोल दिया।...
- Advertisement -spot_img

Latest News

शिशुओं का ख़ून चूसती सरकार!  देश में शिशुओं में एनीमिया का मामला 67.1%

‘मोदी सरकार शिशुओं का ख़ून चूस रही है‘ यह पंक्ति अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकती है पर मेरे पास इस बात...
- Advertisement -spot_img