Wednesday, August 10, 2022

india

‘क्षेत्रपति वर्ग’ के लिए चुनौतीपूर्ण हो गया है मौजूदा दौर

भारत में 'क्षेत्रपति वर्ग' का उल्लेख वेदों में स्पष्ट रूप से मिलता है। यह वो वर्ग है जो  भूमि स्वामी रहे। इस वर्ग में विभिन्न नस्ल जातियां धर्म और क्षेत्रों के लोग मूल रूप से भूमि से जुड़े कार्यों से जीवन यापन करते थे। जो मुख्यत: किसान थे। भौगोलिक क्षेत्र...

भारत भी डूब रहा है कर्ज में, डरा रहा है श्रीलंका का महासंकट

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए सरकार ने 2014 में जब देश का शासन संभाला तब से लेकर अब तक कुछ ऐतिहासिक उपलब्धियां हासिल हुयीं तो नोटबंदी जैसी कुछ बड़ी भूलें भी हुयीं। विकास और शासन-प्रशासन के क्षेत्र...

देश की आर्थिक प्रगति में बाधक है आक्रामक राष्ट्रवाद

भारत की अर्थव्यवस्था और शिक्षा की भूमिका पर दिए अपने व्याख्यान में, अर्थशास्त्री कौशिक बसु ने भारत की तुलना अर्जेंटीना से करते हुए कहा कि, "1862 के बाद अर्जेंटीना की अर्थव्यवस्था में तगड़ी वृद्धि दर देखने को मिली थी।...

यह देश पहले भी कुछ कम अंधेरों से नहीं गुजरा, लेकिन कभी हारा नहीं, आगे भी नहीं हारेगा: विजय बहादुर सिंह 

देश के हिन्दी के जाने-माने आलोचकों में से एक विजय बहादुर सिंह को आमतौर पर उनकी देशज प्रतिमानों की सुगंध वाली आलोचना दृष्टि, भवानीप्रसाद मिश्र व दुष्यंत कुमार जैसे कवियों और आचार्य नन्द दुलारे वाजपेयी की रचनावलियों के श्रमसाध्य...

इतिहास की बुनियाद पर खड़े सम्बन्धों को रेत की तरह नहीं बहाया जा सकता

पैगंबर मोहम्मद साहब के बारे में नूपुर शर्मा की टिप्पणी ने वैश्विक स्तर पर खूब सुर्खियां बटोर ली हैं। अरब, खाड़ी देशों सहित इस्लामिक संगठनों ने इस मामले में कड़ा प्रतिरोध जताने के लिए भारतीय दूतावास को तलब किया।...

धार्मिक स्वतंत्रता से जुड़े अमेरिकी आयोग ने किया भारत को ‘विशेष चिंता वाले देश’ के तौर पर चिन्हित

अमेरिकी कांग्रेस द्वारा गठित एक अर्ध-न्यायिक निकाय, यूएससीआईआरएफ, ने सोमवार को बाइडन प्रशासन से भारत, चीन, पाकिस्तान, अफगानिस्तान और 11 अन्य देशों को धार्मिक स्वतंत्रता की स्थिति के संदर्भ में ‘विशेष चिंता वाले देश’’ के तौर पर वर्गीकृत करने...

सरकार के दावे और कोयला आपूर्ति के बीच जमीन-आसमान का अंतर

एक ओर पावर प्लांट्स में कोयले की कमी की वजह से पूरे देश में बिजली कटौती गंभीर समस्या बनी हुई है, वहीं दूसरी ओर मंत्रालय लगातार कोयले का पर्याप्त स्टॉक होने का दावा कर रहा है। 30 अप्रैल की...

ग्राउंड रिपोर्ट: बस्तर का बहिष्कृत भारत-1

बस्तर। बस्तर आमतौर पर माओवाद से संबंधित हिंसा और प्रतिहिंसा के लिए कुप्रसिद्ध है, जिसके बारे में काफी कुछ मीडिया और अन्य माध्यमों से देश दुनिया जानती है। पर इसी क्षेत्र में एक ऐसा भारत भी रहता है जो...

भारतीय पुनर्जागरण में महिलाओं का योगदान

यह उस जमाने की बात है, जब भारतीय समाज में गाना-बजाना और नाच में लगी महिलाओं को नीची निगाह से देखा जाता था। तब अचानक कलकत्ता की एक बाई जी गौहर ज़ान ने घोषणा की कि हिंदुस्तान का वायसराय...

भारतीय गणतंत्र पर छाया संकट का घटाटोप

भारतीय गणतंत्र की स्थापना का 73वां शुरू होने जा रहा है। किसी भी राष्ट्र या गणतंत्र के जीवन में सात दशक की अवधि अगर बहुत ज्यादा नहीं होती है तो बहुत कम भी नहीं होती। इसमें कोई दो राय...
- Advertisement -spot_img

Latest News

शिशुओं का ख़ून चूसती सरकार!  देश में शिशुओं में एनीमिया का मामला 67.1%

‘मोदी सरकार शिशुओं का ख़ून चूस रही है‘ यह पंक्ति अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकती है पर मेरे पास इस बात...
- Advertisement -spot_img