Wednesday, August 10, 2022

Latehar

पंचायत चुनाव के विरोध में माओवादियों ने कंस्ट्रक्शन कंपनी की गाड़ियों व प्लांट की मशीनों को फूंका

रांची। लातेहार जिले के महुआडांड़ थाना क्षेत्र में गत 14 मई की रात को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के विरोध को लेकर माओवादी पार्टी के दस्ते ने क्षेत्र में सड़क निर्माण का कार्य कर रहे संवेदक मिनी कंस्ट्रक्शन प्लांट की...

पदयात्रा के बाद आंदोलनकारियों ने नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज को रद्द करवाने को लेकर राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

रांची। नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज को रद्द करवाने संबंधी अपनी मांग को लेकर केन्द्रीय जनसंघर्ष समिति लातेहार-गुमला द्वारा 21 से 25 अप्रैल 2022 तक जारी पदयात्रा के बाद 25 अप्रैल को रांची पहुंच कर राज्यपाल को एक ज्ञापन दिया...

झारखंड के लातेहार में बढ़ते पुलिस दमन और विस्थापन के खिलाफ ग्रामीण हुए गोलबंद

रांची। झारखंड के लातेहार जिला मुख्यालय के उदयपुरा विद्यालय प्रांगण में ग्रामीणों की एक बैठक में जिले के आदिवासी क्षेत्रों की 3 अहम जन मुद्दों पर चर्चा की गई। पहला ग्रामीण क्षेत्रों में जवाहरलाल नेहरू के पंचशील सिद्धांत के...

बच्चों को शिक्षा से वंचित करना काफी चिंताजनक: ज्यां द्रेज

गत 10 दिसंबर को झारखंड के लातेहार जिला अंतर्गत मनिका में अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकर दिवस के अवसर पर विगत दो सालों से सरकार द्वारा  बन्द किये प्राथमिक स्कूल खोलने, पुलिसिया अत्याचार, वन विभाग का उत्पीड़न, महिला एवं बाल हिंसा रोकने...

ख़ास रिपोर्ट: अपनी भाषा में अपनी बात यानि असुरों का अपना रेडियो!

'नोआ हाके असुर अखड़ा रीडियो, एनेगाबु डेगाबु सिरिंगेयाबु दाहां-दाहां तुर्रर….धानतींग नातांग तुरू…।' लातेहार व गुमला जिले के हर साप्ताहिक बाजार में ढोल-मांदर और दूसरे वाद्य यंत्रों से एक शानदार संगीत के साथ कुछ महिलाओं की सामूहिक आवाज लोगों को...

ग्राउंड रिपोर्ट: खुद ढिबरी और लालटेन के दौर में जी रहा है दुनिया को रौशन करने वाला नेतरहाट

नेतरहाट (लातेहार)। आजादी के 74 साल और अलग राज्य गठन के 21 साल बाद झारखंड आज भी बुनियादी सुविधाओं से कोसों दूर हैं। इसका जीता जाता उदाहरण है लातेहार जिले का महुआडांड़ प्रखंड का कुरगी और ताहेर गांव। आदिम...

फिर भूख से मर गई झारखण्ड की 5 वर्षीय बेटी

लातेहार जिला मुख्यालय से लगभग 40 किमी दूर मनिका प्रखण्ड अन्तर्गत डोंकी पंचायत, हेसातु गाँव के एक दलित परिवार की 5 वर्षीया बच्ची निमनी कुमारी की भूख से मौत हो गई है।  इस गाँव में करीब 35 भुईयाँ परिवार रहते...

सरकारी घोषणाएँ और मुंह चिढ़ाती जमीनी हकीकत

बोकारो। लातेहार जिला मुख्यालय से 90 किमी दूर स्थित है माहुआडांड़ प्रखण्ड, जहां से महज 2 किमी की लंबी दूरी पर है अंबा टोली पंचायत का गुड़गु टोली गांव। कुंती नगेसिया यहीं रहती हैं। विधवा कुंती पर ज़िंदगी का...
- Advertisement -spot_img

Latest News

शिशुओं का ख़ून चूसती सरकार!  देश में शिशुओं में एनीमिया का मामला 67.1%

‘मोदी सरकार शिशुओं का ख़ून चूस रही है‘ यह पंक्ति अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकती है पर मेरे पास इस बात...
- Advertisement -spot_img