Saturday, October 1, 2022

इप्सा शताक्षी

पत्रकार रूपेश के खिलाफ एनआईए ने दर्ज किया एक और मामला

रूपेश जी ने सरायकेला जेल में अभी जब 15 अगस्त को जगह बदलने को लेकर भूख हड़ताल की बात रखी ही थी कि, तभी उन पर एक और नया केस कैमूर बाघ अभयारण्य के विरोध में होने वाले आंदोलन...

सरकार को उसकी परेशानी और डर मुबारक: पेगासस सूची में शामिल ईप्शा शताक्षी

अगर आप ग्रासरूट पर पत्रकारिता करते हो, आप एक्टिविज्म में हो, किसी राजनीतिक पार्टी या संगठन से ताल्लुक रखते हो या ऊंचे पद पर आसीन हो, तब तो आप सर्विलांस पर हो। मगर जब आप ऐसा कुछ नहीं करते...

पर्यावरण दिवस विशेष : जल, जंगल, जमीन की लड़ाई ही बचाएगा हमारी धरती को

कोविड के इस दौर में पर्यावरण का मुद्दा और भी अहम हो चुका है। पर्यावरण को स्वच्छ और संतुलित रखने की पहल 1972 में स्टॉकहोम में हुई प्रथम पर्यावरण सम्मेलन जिसमें 119 देशों ने भाग लिया था, से शुरू...

पर्यावरण दिवस पर विशेष: प्रकृति को नष्ट कर हमने अपने ही खिलाफ युद्ध छेड़ दिया है

5 जून यानी विश्व पर्यावरण दिवस, जिसकी शुरूआत 1972 से संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा की गयी थी – आज के समय और ज़्यादा प्रासंगिक हो जाना चाहिए था। आज पर्यावरण पर संकट एक वैश्विक मुद्दा बन चुका है और कई...

About Me

4 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

सोडोमी, जबरन समलैंगिकता जेलों में व्याप्त; कैदी और क्रूर होकर जेल से बाहर आते हैं: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कहा कि भारत में जेलों में अत्यधिक भीड़भाड़ है, और सोडोमी और जबरन समलैंगिकता...