Wednesday, August 10, 2022

शंभूनाथ शुक्ल

पुस्तकों को सेल्फ़ में क़ैद न करो, उन्हें बांटो!

अंग्रेजी के एक बहुत बड़े लेखक थे स्टीवेंसन।  वे एक बार बस में सफर कर रहे थे और कोई पुस्तक पढ़ने में तल्लीन थे। जब उनका स्टाप आया तो वे फट से उतर गए मगर अपनी पुस्तक वहीं छोड़...

उत्तर और दक्षिण के बीच पुराना है सांस्कृतिक रिश्ता

यह एक विडंबना है कि हिंदी पट्टी के लोग भारत की संस्कृति और भाषा का दायरा बस उतना ही मानते हैं जहां तक उन भाषाओं का बोलबाला है जिन्हें आर्यभाषा देश कहा जाता है। यानी पंजाब से बंगाल तक...

शहादत दिवस पर विशेष: भगत सिंह के दर्शन को समझने की जरूरत

भगत सिंह को शहीद, महान शहीद और शहीदे आजम का ताज पहना कर हमने भगत सिंह की मौलिकता, उनके चिंतन और दर्शन को मृत मान लिया है। क्योंकि शहीद में कोई नवीनता नहीं होती। वह एक आदर्श के लिए...

भारतीय पुनर्जागरण में महिलाओं का योगदान

यह उस जमाने की बात है, जब भारतीय समाज में गाना-बजाना और नाच में लगी महिलाओं को नीची निगाह से देखा जाता था। तब अचानक कलकत्ता की एक बाई जी गौहर ज़ान ने घोषणा की कि हिंदुस्तान का वायसराय...

विकास, जो जिंदगी पर पड़ रहा है भारी!

लॉक डाउन ख़त्म होते ही प्रदूषण फिर से अपने मानक को पार करने लगा है। गाजियाबाद के जिस वसुंधरा इलाके में मैं जहां रहता हूं वहां आजकल विकास कार्यों की धूम है। दस किमी का एक फ्लाईओवर बन चुका...

मंदिर में दीपक और मस्जिद की शान!

बात 1991 की है। मेरे एक मुस्लिम दोस्त के बहनोई लखनऊ में सीबीआई के डीआईजी थे। एक बार उन्होंने मुझे अपने घर पर खाने को बुलाया। खाने के बाद जब वे अपना घर मुझे दिखा रहे थे तब एक...

ट्रेन में न जाति न मज़हब!

यह अकेला हिंदुस्तान ही है, जहाँ ट्रेन के सफ़र में हम एक दूसरे के इतना करीब आ जाते हैं, कि संकोच संकोच में ही अगले के बारे में सब कुछ जान जाते हैं कोविड के पहले एक बारमैं और...

नींद क्यों रात भर नहीं आती!

अब यह पोस्ट कोरोना इफ़ेक्ट है या कोई और वजह कई लोगों ने नींद न आने की शिकायत की है। देश के एक नामी टीवी पत्रकार ने मुझे बताया, कि वे अक्सर सुबह अपनी पत्नी से पूछते हैं, कि...

उत्तर प्रदेश; एक अदद नेता की ज़रूरत!

कांग्रेस और बीजेपी में बुनियादी फ़र्क़ यह है, कि कांग्रेस के पास संगठन नहीं है और बीजेपी के पास नेता नहीं हैं। अगर नरेंद्र मोदी और योगी आदित्य नाथ को माइनस कर दें तो बीजेपी के पास एक भी...

About Me

9 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

शिशुओं का ख़ून चूसती सरकार!  देश में शिशुओं में एनीमिया का मामला 67.1%

‘मोदी सरकार शिशुओं का ख़ून चूस रही है‘ यह पंक्ति अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकती है पर मेरे पास इस बात...