Tuesday, November 29, 2022

स्वराजबीर

एक चुनौती है गरीब किसान-मजदूर की आत्महत्या

देश के दिहाड़ी मजदूरों की आत्महत्याओं के आंकड़े, उनकी दर्दनाक हालात बयान करते हैं। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के हाल ही में 2021 के जारी किए आंकड़ों के अनुसार, इस वर्ग में आत्महत्याओं का अनुपात अन्य वर्गों की तुलना...

रश्दी पर हमला: धार्मिक आस्था ही नहीं, इतर राय वाली भावनाओं की भी अहमियत

सलमान रश्दी का उपन्यास 'मिडनाइट्स चिल्ड्रन' (आधी रात दी संतान) के मुख्य पात्र सलीम सिनाई का जन्म 14-15 अगस्त 1947 ठीक मध्यरात्रि में 14 अगस्त के समाप्त होने और 15 अगस्त के शुरू होने के समय होता है; जिस...

डर, ऐ मेरे देश, तू डर…

डर, डर मेरे दिल, डर, डर, इतना डर, कि डर  बन जाये तेरा घर  डर में ही तेरा बचाव, छुपाओ, अपने आप को छुपाओ छुपाओ अपने आप को जिस्म में, मकान में कार्पोरेटी दुकान में अपने आप को छुपाओ मौन के तूफ़ान में डर से भी डर जीते-जी ही मर डर,...

जज साहब! यह हमारी फ़ितरत नहीं

कौन बसाये गाँव रे भैयाकौन बसाये शहर?कौन गढ़े समय का घड़ाबाँधे कौन ये पहर?कौन घोलता अमृत प्यालाकौन पिये ये ज़हर?कौन तैरे नद सु़ख़न काबाँधे कौन ये बहर? (नाटक 'हक' के आरंभिक बोल) सर्वोच्च न्यायालय के अति-सम्माननीय जज साहब! आपने केंद्र सरकार...

बेघर हो रहे कलाकार

शहरी आवास और विकास मंत्रालय/विभाग ने देश के जाने-माने कलाकारों, जो पिछले कई सालों से दिल्ली के सरकारी फ्लैटों में रह रहे हैं, को 31 दिसंबर तक घर खाली करने के आदेश दिए हैं। दशकों पहले सरकार ने दिल्ली...

बोलिविया में समाजवादियों की बड़ी वापसी

सारी दुनिया में यह बहस खड़ी करने के लिए बड़े यत्न किए जाते हैं कि समाजवादी /साम्यवादी और वामपंथी मोर्चे पर पार्टियां बनाने और उनके द्वारा चुनाव लड़ने की कोशिश लोगों और वामपंथियों को कहीं न पहुंचाने वाली आवारा...

कबिरा खड़ा बज़ार (जेल) में!

भगत सिंह को सही अर्थों में वही लोग याद कर रहे हैं, जो उनके दर्शाए रास्ते पर चलकर संघर्ष कर रहे हैं। भगत सिंह ने दलितों को कहा था, “तुम असली श्रमजीवी हो!” हमारे देश में संघर्ष करने वाले...

About Me

7 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

प्रेम प्रपंच : चार लोगों ने मिलकर की बुजुर्ग आशिक की हत्या, पानी की टंकी में डाला लाश  

शीर्षक पढ़कर भले ही हम इस घटना की सुर्ख़ियों को चटकारा ले कर पढ़ें, अफसोस जाहिर करें, ऐसे बुजुगों...