Wednesday, October 5, 2022

चौतरफा पड़े दबावों के बाद रेप के आरोपी चिन्मयानंद गिरफ्तार, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

नई दिल्ली। आखिरकार चौतरफा पड़ रहे दबावों के बाद शाहजहांपुर यौन शोषण केस के आरोपी और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को गिरफ्तार कर लिया गया है। यूपी की स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम यानि एसआईटी ने चिन्मयानंद को शाहजहांपुर से ही गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के बाद सबसे पहले उनका मेडिकल टेस्ट करवाने के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। उसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया। जहां जज ने प्राथमिक सुनवाई के बाद उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इस बीच जिला अस्पताल में भारी फोर्स तैनात थी। एसआईटी की टीम भी जिला अस्पताल में मौजूद थी।

इसके पहले एसआईटी लगातार दोनों पक्षों से पूछताछ कर रही थी। लेकिन तमाम सबूतों के बाद भी वह चिन्मयानंद को गिरफ्तार नहीं कर रही थी। कल पीड़िता ने आत्मदाह की धमकी दे दी। जिसके बाद यह मामला एक बार फिर सोशल मीडिया पर छा गया। बता दें कि लॉ की इस छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाया है। शाहजहांपुर जिला अस्पताल में मेडिकल करवाने के बाद चिन्मयानंद को अदालत में पेश किया गया। गिरफ्तारी के बाद स्वामी चिन्मयानंद की वकील पूजा सिंह ने बताया कि उनके मुवक्किल को उनके घर से ही गिरफ्तार किया गया है।

चिन्मयानंद को अस्पताल में ले जाती पुलिस।

चिन्मयानंद के ही कालेज में पढ़ने वाली लॉ की इस छात्रा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। इससे जुड़ा एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इन आरोपों के सिलसिले में पिछले शुक्रवार को SIT की टीम ने करीब 7 घंटे तक स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ की थी।

दुष्कर्म के आरोपों पर पूछताछ

स्वामी चिन्मयानंद से सारे सवाल छात्रा और उसके आरोपों के बारे में ही पूछे गए। चिन्मयानंद से पूछा गया कि आखिरकार उनसे जुड़े वीडियो का सच क्या है? वह छात्रा को कैसे जानते हैं? और छात्रा की ओर से लगाए गए दुष्कर्म के आरोपों के बारे में उनका क्या कहना है? एसआईटी ने कॉलेज के हॉस्टल के कमरे में मिले साक्ष्यों के आधार पर भी स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ की।

उससे पहले एसआईटी ने छात्रा से तकरीबन 11 घंटे पूछताछ की थी और पूरे मामले की उससे जानकारी ली थी।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

कानून के शासन के लिए न्यायपालिका की स्वतंत्रता ज़रूरी: जस्टिस बीवी नागरत्ना

सुप्रीम कोर्ट की जज जस्टिस बीवी नागरत्ना ने शनिवार को कहा कि कानून का शासन न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर बहुत...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -