Wednesday, July 6, 2022

Amit Shah

मोदी-शाह का अगला निशाना 1937 का शरीयत कानून

उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने हाल ही में सम्पन्न विधानसभा के चुनाव में जब राज्य में समान नागरिक संहिता लागू करने की घोषणा की तो लग रहा था कि उन्होंने गलतफहमी में मतदाताओं को रिझाने के लिये...

गुजरात नरसंहार की बीसवीं बरसी को भूलना खतरनाक है

जिस समय ये पंक्तियाँ लिखी जा रही हैं बीस साल पहले उन दिनों गुजरात धधक रहा था। ताजे इतिहास का सबसे भीषण नरसंहार। गुजरात में 2002 में हुयी सांप्रदायिक हिंसक बर्बरता की यह 20वीं बरसी है। इस बार पर...

उत्तर प्रदेश बदलाव की राह पर 

उत्तर प्रदेश का चुनाव अपने आखिरी पड़ाव पर है। पहले तो यह लग रहा था कि सिर्फ पश्चिमी उ.प्र. में ही जहां किसान आंदोलन का असर है, समाजवादी पार्टी व राष्ट्रीय लोक दल का गठबंधन भारतीय जनता पार्टी पर...

दस मार्च को जिन बातों पर नज़र रहेगी

चुनाव अब लोकतंत्र को सुनिश्चित करने का किस हद तक पैमाना रह गए हैं, इस प्रश्न के लगातार अधिकाधिक प्रासंगिक होते जाने के बावजूद सच यही है कि अभी भी बहुसंख्यक लोगों के लिए ये सवाल अभी महत्त्वपूर्ण नहीं...

क्या भाजपा के अहंकार की भेंट चढ़ जाएगी अयोध्या?

अयोध्या शहर में भारतीय जनता पार्टी के कमल छाप झंडों की भरमार है और जगह-जगह पर हनुमान की आक्रामक मुद्रा वाले ध्वज भी फहरा रहे हैं, उसके बावजूद लगता है इस बार अयोध्या योगी आदित्यनाथ और भारतीय जनता पार्टी...

अब हिंदू-मुस्लिम के आधार पर होता अदालती न्याय

अहमदाबाद : 26 जुलाई 2008 को 70 मिनट में 21 जगह सीरियल बॉम्ब ब्लास्ट से अहमदाबाद ही नहीं पूरा देश दहल गया था। 13 साल 6 महीने के बाद अहमदाबाद सेशन कोर्ट के जज अंबालाल आर. पटेल ने 38...

वर्तमान चुनावी बिसात और पंजाब का भविष्य

2014 में नरेन्द्र मोदी के सत्ता में आने के बाद भारत की सामाजिक संरचना में आए एक अप्रत्याशित बदलाव और नए किस्म के चुनावी हथकंडों ने चुनावी प्रक्रिया पर कुछ ऐसा फ़र्क डाला है कि विकासशील समाज अध्ययन पीठ...

उत्तर प्रदेश : मोदी-अमित शाह क्यों चाहते हैं सपा से सीधा मुकाबला !

उत्तर प्रदेश में मतदान शुरू होने में कुछ ही दिन शेष रह गए हैं। सरकारी तथा कारपारेट ताकत के सहारे चुनाव मैदान में खड़ी भाजपा को चुनाव आयोग और मीडिया का पूरा सहयोग मिल रहा है। लेकिन काफी मशक्कत...

पीएम केयर्स फंड: सरकारी साधनों से इकट्ठा किए गए धन का आखिर निजी इस्तेमाल क्यों?

प्रधानमंत्री कार्यालय (Prime Minister's Office) ने दिल्ली हाईकोर्ट से कहा कि 'पीएम केयर्स' भारत सरकार का फंड नहीं है। क्योंकि इसका पैसा भारत सरकार के खजाने में नहीं जाता है। यह आरटीआई (RTI) के तहत नहीं आता है इसलिए...

मोदी जी! न मिजोरम क्यूबा है और न ही असम अमेरिका, फिर मिजोरम की आर्थिक नाकेबंदी क्यों?

राष्ट्रीय राजमार्ग-306 पर असम सरकार द्वारा आर्थिक नाकेबंदी के कारण मिजोरम की स्वास्थ्य सेवा चरमरा गई है। इसे लेकर मिजोरम के स्वास्थ्य मंत्री ललथंगलियाना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह और स्वास्थ्य मंत्रियों से असम के साथ चल रही...
- Advertisement -spot_img

Latest News

फ़ादर स्टैन स्वामी की पहली पुण्यतिथि पर ‘झारखंड की आवाज स्टैन स्वामी’ पुस्तक का लोकार्पण

रांची। आज 05 जुलाई 2022 को झारखंड की राजधानी रांची के मनरेसा हाउस में विस्थापन विरोधी जन विकास आन्दोलन, झारखंड इकाई द्वारा झारखण्डी जनता...
- Advertisement -spot_img