Tuesday, November 29, 2022

communalism

अमेरिकी संसद में नरेंद्र मोदी को नया ‘पिनोशे’ बताया गया

अमेरिका की सत्ताधारी डेमोक्रेटिक पार्टी की एक सांसद इल्हान उमर ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नया 'ऑगस्टो पिनोशे’ बताया है। उन्होंने अमेरिकी संसद में दिये अपने भाषण में भारत में मानवाधिकार की स्थिति को लेकर नरेंद्र मोदी पर...

बिहार में भी भाजपा यूपी मॉडल लागू करने को बेचैन, लेकिन यहां बुलडोजर राज नहीं चलेगा: दीपंकर भट्टाचार्य

गया। उत्तर प्रदेश में चुनाव जीतने के बाद भाजपा अब यूपी मॉडल को बिहार में भी लागू करने को तत्पर है। यह नीतीश कुमार के लिए बड़ी चुनौती है। हमने देखा कि यहां कैसे भाजपा पूरी तरह से मुकेश...

मौजूदा साम्प्रदायिक दौर में और भी प्रासंगिक हो गए हैं गणेश शंकर विद्यार्थी

कौन भूल सकता है कानपुर के उस भीषण नर-संहारकारी हिन्दू मुस्लिम दंगे को? बीसियों मंदिर और मस्जिदें तोड़ी और जलाई गईं, हजारों मकान और दुकानें लुटीं गईं और भस्मीभूत हुईं। लगभग 75 लाख की सम्पत्ति स्वाहा हो गई, करीब...

सोचिये जरा, उत्तर प्रदेश जीतने के लिए भाजपा ने किस-किस को हरा डाला!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश समेत चार राज्यों में शानदार वापसी के फलस्वरूप भारतीय जनता पार्टी के बल्लियों उछलते हौसले की बाबत ढेर सारी बातें कही जा चुकी हैं। इसलिए कुछ बातें समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल,...

उत्तराखण्ड में मोदी मैजिक और साम्प्रदायिक एजेंडा काम आ गया भाजपा के

उत्तराखण्ड की जनता द्वारा बारी-बारी से सरकार बदलने का मिथक इस बार टूटता नजर आ रहा है। इसके लिये प्रदेश में एक बार फिर मोदी मैजिक कारगर हो रहा है। अब तक के रुझानों में सत्तारूढ़ भाजपा विपक्षी कांग्रेस...

यूपी चुनाव का गुणा-गणित तथा जमीनी हकीकत

उत्तर प्रदेश में आधी से ज्यादा सीटों पर पांच चरणों में मतदान की प्रक्रिया समाप्त हो चुकी है। इन चरणों में आम जनता ने खुलकर मंहगी बिजली, खाद्य, बीज के साथ-साथ बढ़ी हुई बेरोजगारी एवं राजनीतिक भागीदारी पर खुलकर...

जनचौक स्पेशल: नफरत का कैराना नहीं, जीतेगा प्रेम का ‘किराना’

कैराना। पंडित भीमसेन जोशी की पुण्यतिथि पर आए साहित्यकार शैलेंद्र चौहान के लेख में 'किराना घराना' के जिक्र के साथ ही मेरे जेहन में कैराना जाने की ख्वाहिश पैदा हो गयी थी। और वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश के चुनावी...

शहीद दिवस पर विशेष: गांधी जिंदा हैं क्योंकि सत्य कभी नहीं मरता

मोहनदास करमचंद गांधी यानि महात्मा गांधी (02  अक्टूबर 1869 : 30 जनवरी 1948 ) भारतीय संविधान में वर्णित “हम भारत के लोग ” ही नहीं पूरी दुनिया में सत्य और अहिंसा के  ‘मेटाफर’ हैं जिसे हिंदी में सर्वनाम या...

भारतीय गणतंत्र पर छाया संकट का घटाटोप

भारतीय गणतंत्र की स्थापना का 73वां शुरू होने जा रहा है। किसी भी राष्ट्र या गणतंत्र के जीवन में सात दशक की अवधि अगर बहुत ज्यादा नहीं होती है तो बहुत कम भी नहीं होती। इसमें कोई दो राय...

कैराना में सांप्रदायिकता का जहर फैलाने की शाह ने थामी कमान!

2013 में सांप्रदायिक दंगे का दर्द झेलने वाला मुज़फ़्फ़रनगर जिले से सटे शामली जिले की कैराना विधानसभा एक बार फिर सांप्रदायिक ज़हरखुरानों की ज़बान पर चढ़ा हुआ है। 2017 विधानसभा चुनाव में भाजपा की सांप्रदायिक राजनीति की धुरी बनने...
- Advertisement -spot_img

Latest News

प्रेम प्रपंच : चार लोगों ने मिलकर की बुजुर्ग आशिक की हत्या, पानी की टंकी में डाला लाश  

शीर्षक पढ़कर भले ही हम इस घटना की सुर्ख़ियों को चटकारा ले कर पढ़ें, अफसोस जाहिर करें, ऐसे बुजुगों...
- Advertisement -spot_img