Sunday, May 22, 2022

Election

सीपी कमेंट्री: प्रेस क्लब ऑफ इंडिया चुनाव के मायने

लोकतंत्र की गारंटी के रूप में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव जरुरी है चाहे वे राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति के चुनाव हों या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के गृह-राज्य गुजरात के और कुछ अन्य राज्यों के इसी...

कमजोर कांग्रेस एक राजनीतिक सच्चाई है, ठीकरा नेतृत्व के सिर पर

2014 के लोकसभा चुनाव से कांग्रेस की चुनावी हार का रोलर-कोस्टर सिलसिला थमने का नाम नहीं लेता दिख रहा। पारिवारिक नेतृत्व की पंजीरी बांटने की क्षमता कमतर होते जाने से पार्टी पर भी उनकी पकड़ ढीली पड़नी स्वाभाविक था।...

पंचायत चुनाव के विरोध में माओवादियों ने कंस्ट्रक्शन कंपनी की गाड़ियों व प्लांट की मशीनों को फूंका

रांची। लातेहार जिले के महुआडांड़ थाना क्षेत्र में गत 14 मई की रात को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के विरोध को लेकर माओवादी पार्टी के दस्ते ने क्षेत्र में सड़क निर्माण का कार्य कर रहे संवेदक मिनी कंस्ट्रक्शन प्लांट की...

बिहार में प्रशांत किशोरः चुनाव की ठेकेदारी से सीधे मैदाान में?

देश की सबसे पुरानी पार्टी को सुधारने का फार्मूला बेचने में विफल हुए प्रशांत किशोर अब बिहार आ गए हैं और जमीन की राजनीति का अपना नया फार्मूला घोषित करने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने संकेत दिए हैं...

उत्तराखण्ड विधानसभा चुनाव में करोड़पति और आपराधिक पृष्ठभूमि के प्रत्याशी ज्यादा पसंद आये

उत्तराखण्ड को आज सरकार से ज्यादा प्रदेश का राजनीतिक माहौल बदलने की जरूरत है। क्योंकि पहले तो लोगों की मौजूदा राजनीतिक व्यवस्था के प्रति रुचि घट रही है। मौजूदा विधानसभा के सदस्यों ने कुल मतदाताओं के 31 प्रतिशत का...

पीके-कांग्रेस जुदा-जुदा: तू भी खुश मैं भी, पर बीजेपी क्यों ज्यादा खुश?

कांग्रेस खुश है कि पीके ने उसके ऑफर को ठुकरा दिया। यह खुशी कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के ट्वीट में नज़र आती है जिसमें वे पीके का आभार भी जताते हैं और यह भी बताते हैं कि...

यूपी विधानसभा चुनाव में एआईएमआईएम के मतगणना एजेंट थे भाजपा से जुड़े लोग

प्रयागराज। राजनीतिक विश्लेषक हों या उत्तर प्रदेश के प्रमुख विपक्षी दल, लंबे समय से ओवैसी के एआईएमआईएम और बहन मायावती के बसपा के ऊपर भारतीय जनता पार्टी का एजेंट होने यानि भाजपा की बी टीम होने का आरोप लगाते...

प्रशांत किशोर को लेकर मच रहा शोर और उसकी हकीकत

पिछले कुछ दिनों से प्रशांत किशोर सुर्खियों में हैं। यह चर्चा जोरों पर है कि लगभग 135 वर्षों की अपनी यात्रा में संघर्ष और सत्ता तथा उत्थान एवं पतन का हर रंग देख चुकी कांग्रेस पार्टी को नवजीवन देने...

आने वाले समय में बढ़ जाएगी राष्ट्रीय स्तर की पार्टियों की तादाद 

भारत में इस समय आधिकारिक तौर पर राष्ट्रीय स्तर के मान्यता प्राप्त कुल सात राजनीतिक दल हैं, लेकिन आने वाले समय में इनकी संख्या में इजाफा हो सकता है। हाल ही में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के...

मिर्जापुर ग्राउंड जीरो: चुआड़, नाला और हैंडपंप के जहरीले पानी के भरोसे है यहां आदिवासियों की ज़िंदगी

अहरौरा, मिर्जापुर। गत 6 मार्च, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव-2022 के आखिरी चरण के मतदान से ठीक पहले का दिन। शाम के करीब पौने छह बज रहे थे। दिन ढल रहा था। सूर्य की किरणें लालिमा बिखेर रही थीं। मैं...
- Advertisement -spot_img

Latest News

सरकारी दावों पर पानी फेरता झारखंड के पानी का सच

कहा जाता है कि पहाड़ से पानी का रिश्ता सदियों पुराना है। प्रकृति के इसी गठबंधन की वजह से...
- Advertisement -spot_img