Friday, August 12, 2022

Somnath Temple

राष्ट्रवाद के साथ धर्म भी बन गया है धूर्तों के चेहरे का मुखौटा!

जिस किसी ने भी कहा था कि राष्ट्रवाद धूर्तों की आख़िरी पनाहगाह है, उसे उस दूसरी चोर गुफा का अंदाजा नहीं रहा होगा, जिसे धर्म, रिलिजन या मजहब कहते हैं। कहीं कोई इन दोनों का कॉकटेल बनाने की सवाई...
- Advertisement -spot_img

Latest News

मुफ्त उपहार बांटने के लिए राजनीतिक दलों का पंजीकरण रद्द करने पर विचार नहीं

उच्चतम न्यायालय ने कल राजनीतिक दलों को मुफ्त उपहार का वादा करने पर रोक लगाने की याचिका पर स्पष्ट...
- Advertisement -spot_img