Wednesday, August 10, 2022

sp

  हिंदी पट्टी की बहुजन राजनीति को कैसे निगल रही है भाजपा

हिंदी पट्टी में राजनीतिक वर्चस्व भारत की केंद्रीय सत्ता पर राजनीतिक वर्चस्व का रास्ता खोलता है। हिंदी पट्टी की घनी जनसंख्या और भारत में जनसंख्या आधारित राजनीतिक प्रतिनिधित्व की व्यवस्था के चलते भारत के अन्य हिस्सों पर इसका राजनीतिक...

सोचिये जरा, उत्तर प्रदेश जीतने के लिए भाजपा ने किस-किस को हरा डाला!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश समेत चार राज्यों में शानदार वापसी के फलस्वरूप भारतीय जनता पार्टी के बल्लियों उछलते हौसले की बाबत ढेर सारी बातें कही जा चुकी हैं। इसलिए कुछ बातें समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल,...

यूपी में बीजेपी की जीत के धार्मिक समीकरण का क्या है काउंटर

उत्तर प्रदेश के 2022 के विधान सभा चुनावों में भाजपा को 255 सीटें और 41.3 प्रतिशत मत प्राप्त हुए हैं। 2017 की तुलना में सीटों की संख्या की दृष्टि से देखें तो भाजपा को 57 सीटों का नुकसान हुआ...

आधे मन से अधूरी लड़ाई के पक्ष में नहीं था मतदाता

2014 लोकसभा चुनावों से यह बात उत्तरोत्तर स्पष्ट होती जा रही है कि भारतीय लोकतंत्र में मतदाता के पास भले ही स्व-विवेक की कोई कमी न हो, किंतु उसे समय-विशेष पर यदि सघन प्रयासों से प्रभावित करने की कोशिश...

नतीजे से पहले ही विवादास्पद हुआ यूपी का चुनाव

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे चाहे जो भी हों पर चुनावी परिदृश्य में सत्ताधारी दल के लिए कुछ भी सहज नहीं दिख रहा था। लेकिन टीवीपुरम के ‘एक्जिट पोल’ 7 मार्च से ही भारतीय जनता पार्टी की जीत...

सीपी कमेंट्री: इति वोटिंग अथ काउंटिंग कथा-2022

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर की विधान सभाओं के बरस 2022 में नए चुनाव की सभी सीटों पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) से दर्ज वोटों की काउंटिंग के परिणाम 10 मार्च को सूर्यास्त तक निकल जाने की...

मुगलसराय विधानसभा की ग्राउंड रिपोर्टः मुद्दों की नज़र में कौन मारेगा बाजी?

चंदौली/बनारस। बीते रविवार को दोपहर के करीब दो बज रहे थे। मैं केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय के संसदीय क्षेत्र चंदौली की विधानसभाओं का जायजा लेने अपनी स्कूटी से निकल चुका था। वाराणसी जंक्शन, जिसे स्थानीय...

यूपी विधानसभा चुनाव: पार्टियों ने खोल दिया है वादों का पिटारा

विधानसभाओं के लिए चुनाव प्रचार जोरों पर है, हालांकि, सभी की निगाहें यूपी-राज्य विधानसभा चुनाव पर हैं। उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय राजनीति में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है। यह राज्य लोकसभा में 80 और राज्यसभा में 31 सदस्यों को...

पथरदेवा सीट की पड़ताल: समस्याओं के अंबार के साथ दो कद्दावर प्रत्याशियों के बीच बीएसपी का त्रिकोण

पथरदेवा, देवरिया। देश में राजनीति की चर्चा जब भी होती है,यूपी का नाम अवश्य लिया जाता है। यह माना जाता है कि उत्तर प्रदेश के सत्ता के रास्ते ही केंद्र की भी हुकूमत का भविष्य तय होता है। जिसके...

बुंदेलखंड और गोमती से सरयू के अलावा बीजेपी के पास कोई राह नहीं

पहले चरण से सत्तारूढ़ भाजपा को जो उम्मीद थी, उसके अनुरूप प्रदर्शन कहीं न कहीं चूक गया है। यह स्पष्ट हो गया है कि 58 में से पिछली बार 53 सीटों पर भारी जीत के बाद यदि प्रदर्शन 50%...
- Advertisement -spot_img

Latest News

शिशुओं का ख़ून चूसती सरकार!  देश में शिशुओं में एनीमिया का मामला 67.1%

‘मोदी सरकार शिशुओं का ख़ून चूस रही है‘ यह पंक्ति अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकती है पर मेरे पास इस बात...
- Advertisement -spot_img