Wednesday, August 10, 2022

uttarakhand

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में जलवायु परिवर्तन का कहर

अंधाधुंध सड़क निर्माण और जल विद्युत परियोजनाएं उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को बढ़ा रही हैं जो हाल के वर्षों में बादल फटने और अचानक बाढ़ आने (flash floods) के रूप में प्रकट हो रहा...

उत्तराखंड: फिर अंगड़ाई लेने लगी आंदोलनों की धरती

हेलंग (जोशीमठ)। जन आंदोलनों की धरती उत्तराखंड एक बार फिर अंगड़ाई लेती प्रतीत होने लगी है। वजह एक बार फिर गौरा देवी के चिपको आंदोलन की धरती बनी है, यानी जोशीमठ घाटी। चमोली जिले के हेलंग में महिलाओं से...

उत्तराखंड: हेलंग की घटना से सांसत में सरकार

देहरादून। उत्तराखंड में चमोली जिले के हेलंग गांव में महिलाओं से चार-पत्ती छीनने का मामला अब चमोली प्रशासन, पुलिस और राज्य सरकार के गले की फांस बन गया है। उत्तराखंड आंदोलन के बाद संभवतः यह पहला मौका है, जब...

हेलंग ने जगा दिया उत्तराखंडियों का जमीर

उत्तराखंड के चमोली जिले में अलकनंदा नदी के सिरहाने पर बसे हेलंग गांव के लोग आजकल अपने जंगल और चारागाह को बचाने के लिए संघर्षशील हैं। इसकी वजह यह है कि उनके चारागाह का इस्तेमाल इस क्षेत्र में निर्माणाधीन...

गिद्धों के साये में एक दिन के हरेला मनाने से क्या होगा! 

कल जब पूरे उत्तराखण्ड में हरेला मनाया गया और वृक्षारोपण की बाढ़ लायी गयी तब रात्रि में कुछ वीडियो शेयर किए थे। जिसमें सर्वाधिक वायरल वीडियो , जिसमें एक महिला के घास के बोझ को बहुत सी पुलिस और औद्योगिक पुलिस बल...

मकानों के भार से धंस रहा है जोशीमठ का इलाका

यूं तो पूरा हिमालयी क्षेत्र ही संवेदनशील है। हिमालय भू गर्भिक तौर पर सबसे नए बने पर्वत हैं और अब भी निरन्तर बनने की प्रक्रिया में हैं। जिससे हिमालय की नाजुकता दुनिया के अन्य पर्वतों की अपेक्षा ज्यादा है।...

उत्तराखंड: मामूली बारिश में ही ऑलवेदर रोड बंद

देहरादून। मानसून आने के एक हफ्ते बाद भी उत्तराखंड में बारिश की गतिविधियां सामान्य से कम हैं। राज्य के कुछ जिलों को छोड़ दें तो भरे-पूरे मानसून के बीच जुलाई के महीने में अब तक ज्यादातर जिलों में सामान्य...

केंद्र और राज्यों के लिए जीएसटी बनी जंजाल

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब 30 जून और 1 जुलाई 2017 की मध्य रात्रि जीएसटी के रूप में देश की कर प्रणाली की नयी शुरुआत की घोषणा की थी तो भाजपा नेताओं और भाजपानीत सरकारों ने इसे मध्य रात्रि...

ग्राउंड रिपोर्ट: अग्निपथ ने तोड़ दिये पहाड़ के युवाओं के सपने

देहरादून। आर्मी में भर्ती होना उत्तराखंड के 80 प्रतिशत युवाओं का सपना होता है और राज्य की अस्थाई राजधानी देहरादून सपनों की नगरी। पहाड़ के हर युवा को लगता है कि वह किसी न किसी तरह देहरादून पहुंच जाए...

अग्निपथ के खिलाफ सड़कों पर उत्तराखंड की महिलाएं

वर्ष 1994 के उत्तराखंड आंदोलन के तात्कालिक कारणों का विश्लेषण करें तो यह वास्तव में रोजगार से जुड़े मुद्दे को लेकर शुरू हुआ था। हालांकि अलग राज्य का मुद्दा आजादी के पहले से उठता रहा था और कई बार...
- Advertisement -spot_img

Latest News

शिशुओं का ख़ून चूसती सरकार!  देश में शिशुओं में एनीमिया का मामला 67.1%

‘मोदी सरकार शिशुओं का ख़ून चूस रही है‘ यह पंक्ति अतिशयोक्तिपूर्ण लग सकती है पर मेरे पास इस बात...
- Advertisement -spot_img