Saturday, October 1, 2022

journalism

जयंती पर विशेष: वर्तमान में नहीं रही प्रेमचंद युग की पत्रकारिता

वाराणसी। प्रेमचंद जी कहते हैं कि समाज में ज़िन्दा रहने में जितनी कठिनाइयों का सामना लोग करेंगे उतना ही वहां गुनाह होगा। अगर समाज में लोग खुशहाल होंगे तो समाज में अच्छाई ज़्यादा होगी और समाज में गुनाह नहीं के...

‘तन्हा सेल’ में रखे गए हैं स्वतंत्र पत्रकार रुपेश कुमार सिंह

जनपक्षीय पत्रकारिता कोई फूलों का सेज नहीं है, रूपेश जी ने यह ठीक ही कहा था जब पिछले साल पेगासस जासूस मामले में उनका नाम आया था। हम इसे प्रूफ होता लगातार 17 जुलाई 2022 से देख सकते हैं,...

व्यवसायिक हित स्वतंत्र पत्रकारिता पर हावी, लोकतंत्र से समझौता:चीफ जस्टिस

चीफ जस्टिस एनवी रमना ने मीडिया पर व्यापारिक घरानों के वर्चस्व पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब एक मीडिया हाउस के अन्य व्यवसायिक हित होते हैं, तो वह बाहरी दबावों के प्रति संवेदनशील हो जाता है। अक्सर, व्यवसायिक हित स्वतंत्र पत्रकारिता...

उत्पीड़न देखकर डरने लगे हैं पत्रकारिता के पेशे में आने के इच्छुक छात्र

इंडिया प्रेस फ्रीडम रिपोर्ट के मुताबिक़ साल 2021 में कुल छह पत्रकारों की हत्या हुई, 108 पत्रकारों के ऊपर हमले हुए, तो वहीं 13 मीडिया घरानों को तरह-तरह से टारगेट किया गया। पत्रकारों के ऊपर लगातार हुए हमलों से...

करीब 93 साल बाद फिर निकला ‘स्त्री दर्पण’ 

नई दिल्ली। कल का दिन हिंदी पत्रकारिता के लिए विशेषकर स्त्री पत्रकारिता के लिए एक बड़ा ऐतिहासिक दिन था क्योंकि 93 साल बाद नई "स्त्री दर्पण" पत्रिका को शुरू किया गया। 1909 से लेकर 1929 तक 20 सालों तक इलाहाबाद...

असली पत्रकारों के लिए खड़ा हो गया है अस्तित्व का संकट

प्रेस फ्रीडम इंडेक्स में भारत के निराशाजनक प्रदर्शन और उत्तरोत्तर गिरती स्थिति पर चर्चा और विमर्श जारी है। हाल के दिनों में पत्रकारों के दमन और उत्पीड़न के समाचारों की आवृत्ति भी चिंताजनक रूप से बढ़ी है। पत्रकारों को...

सरोकारविहीन हो गयी है मौजूदा दौर की पत्रकारिता

दिनेशपुर, उत्तराखंड में अखिल भारतीय लघु पत्र-पत्रिका सम्मेलन का आयोजन हो रहा है। कुछ समय पूर्व पलाश विश्वास ने पत्रकारिता और साहित्य के संपादन संबधों की चर्चा की थी जिसमें मूल बात यह थी कि रघुवीर सहाय और सव्यसाची...

पूर्व आईपीएस अधिकारी ने पत्र लिखकर मुकेश अंबानी से अपने चैनल पर लगाम की लगाई गुहार

नई दिल्ली। रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी विजय शंकर सिंह ने एक पत्र लिखकर मुकेश अंबानी को उनके चैनल न्यूज-18 द्वारा परोसे जा रही घृणा पर रोक लगाने की गुहार लगायी है। उन्होंने पत्र से पहले के अपने वक्तव्य में बताया...

सत्ता की पालकी ढो रही है मीडिया

आज के जमाने में भी ऐसे प्राणी/तत्व/चारण पाए जाते हैं, जो शासक वर्ग का गुणगान करने में अपनी सारी ऊर्जा लगा देते हैं। यूं तो राजे-रजवाड़ों का जमाना अब नहीं रहा और उनके बदले में भारत सहित अधिकांश देशों...

नहीं रहे पत्रकारिता के कमाल

वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान का शुक्रवार सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। उनके निधन की खबर से पूरी पत्रकारिता जगत में शोक की लहर दौड़ गई है। उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान की हृदयगति...
- Advertisement -spot_img

Latest News

सोडोमी, जबरन समलैंगिकता जेलों में व्याप्त; कैदी और क्रूर होकर जेल से बाहर आते हैं: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कहा कि भारत में जेलों में अत्यधिक भीड़भाड़ है, और सोडोमी और जबरन समलैंगिकता...
- Advertisement -spot_img