Monday, August 15, 2022

nehru

नेहरू से आरएसएस-बीजेपी का तो ठीक है लेकिन ‘आज तक’ को क्यों है एलर्जी?

आज तक की श्वेता सिंह आप को याद है, वही एंकर जिसने भारतीय मुद्रा 2000 रुपए के नोट को लेकर एक अफवाह फैलाई थी कि उसमें एक इलेक्ट्रॉनिक चिप है जो नोट लोकेशन बता देगी ? होना तो यह...

जयंती पर विशेष: क्या कांग्रेस को कामराज जैसे किसी नये प्लान की जरूरत है?

कांग्रेस जब भी किसी संकट का सामना करती है, तो वह अतीत में समाधान खोजती है। 59 वर्ष पहले मद्रास के तत्कालीन मुख्यमंत्री कुमारस्वामी कामराज ने प्रधानमंत्री नेहरू एंड कांग्रेस सरकार को फिर से सक्रिय करने के लिए 'कामराज...

केंद्र और राज्यों के लिए जीएसटी बनी जंजाल

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब 30 जून और 1 जुलाई 2017 की मध्य रात्रि जीएसटी के रूप में देश की कर प्रणाली की नयी शुरुआत की घोषणा की थी तो भाजपा नेताओं और भाजपानीत सरकारों ने इसे मध्य रात्रि...

पुण्यतिथि पर विशेष: नेहरू ने अपनी जिंदगी के साढ़े नौ साल बिताए जेल में     

                                   सोशल मीडिया पर यह बात भी गाहे बगाहे कही जाती है कि जवाहरलाल नेहरू को किसी नियमित जेल में नहीं बल्कि आरामदायक डाक बंगले में रखा जाता था। उन्हें ब्रिटिश सरकार विशेष सुविधा देती थी। यह बात सच नहीं...

स्टेट्समैन से स्टंटमैन का युद्ध: नेहरू संग्रहालय अब प्रधानमंत्री संग्रहालय बना 

देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का नाम लोक स्मृति से खुरच-खुरच कर मिटाए जाने की राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और मौजूदा सरकार की व्यापक परियोजना का एक बड़ा चरण पूरा हो गया। इस परियोजना के तहत नेहरू स्मारक...

नेहरू ने कभी नहीं कहा था-मैं शिक्षा से अंग्रेज, संस्कृति से मुस्लिम और जन्म से हिंदू हूं

नाज़ियों और फासिस्टों के भारतीय चेले वर्षों तक पं. जवाहरलाल नेहरू का विभिन्न तरीकों से चरित्र-हनन करते रहे हैं। आज भी यह सिलसिला उनके फ़र्ज़ी उद्धरणों और फोटोशॉप तस्वीरों के माध्यम से निरंतर जारी है। खुद को उनके सामने...

सिंगापुर के पीएम द्वारा नेहरू की तारीफ और मौजूदा सांसदों पर टिप्पणी से सरकार नाराज, विदेश मंत्रालय ने उच्चायुक्त को बुलाया

नई दिल्ली। सिंगापुर के प्रधानमंत्री द्वारा सिंगापुर की संसद में भारतीय लोकतंत्र में गिरावट की वर्तमान स्थिति और नेहरू की महानता की तारीफ ने केंद्र सरकार को असहज स्थिति में डाल दिया है। उनके इस बयान से केंद्र सरकार...

प्रधानमन्त्री जी, 56 इंच सीने का दावा आसान है उस पर खरा उतरना मुश्किल!

‘बड़ा शोर सुनते थे पहलू में दिल का /जो चीरा तो इक क़तरा-ए-ख़ूँ न निकला’ यह शेर अपने 56 इंच सीने वाले साहब पर पूरी तरह खरा नज़र आ रहा है। कभी भी इंदिरा गाँधी, पंडित नेहरू और महात्मा...

राजनीति और धर्म का गठबंधन सबसे ज़्यादा ख़तरनाक़: नेहरू

पंडित जवाहर लाल नेहरू का भारतीय इतिहास में अविस्मरणीय योगदान है। परतंत्र भारत में पंडित नेहरू की अहमियत जहां देश को आज़ाद कराने के लिए किए गए उनके अथक प्रयासों के चलते है, तो वहीं स्वतंत्र भारत में प्रधानमंत्री...

नेहरू में थी अद्भुत लेखकीय क्षमता

जवाहरलाल नेहरू अगर प्रधानमंत्री न होते, तो भी यह विश्व उन्हें एक महान लेखक याद रखता। एक ऐसा लेखक, जिसकी इतिहास दृष्टि ने इस देश की संस्कृति की अलग तरह से व्याख्या की देश की सांस्कृतिक विरासत को व्याख्यायित...
- Advertisement -spot_img

Latest News

जश्न और जुलूसों के नाम थी आज़ादी की वह सुबह

देश की आज़ादी लाखों-लाख लोगों की कु़र्बानियों का नतीज़ा है। जिसमें लेखक, कलाकारों और संस्कृतिकर्मियों ने भी अपनी बड़ी...
- Advertisement -spot_img