Sunday, May 22, 2022

Demonetisation

सात साल में मोदी सरकार की दस असफलताएं

मोदी सरकार ने 7 साल पूरे कर लिए हैं। किसी भी समाज, देश या व्यक्ति के मूल्यांकन के लिए 7 वर्ष पर्याप्त होते हैं। किसी भी नीति का विश्लेषण करने के लिए हमेें कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं को देखना होता...

कोरोना की दूसरी लहर के घातक दुष्परिणाम की जिम्मेदारी कौन लेगा सरकार!

अब जब सुप्रीम कोर्ट सहित अन्य हाई कोर्ट में इस आपदा पर हंगामा मचा तो अदालत में सरकार ने कहा कि उसे दूसरी लहर की भयावहता का अंदाज़ा नहीं था। पर द प्रिंट ने इस पर एक विस्तार से...

कोरोना की दूसरी लहर पर प्रधानमंत्री की पहली मन की बात

अंततः प्रधानमंत्री जी ने कोविड-19 की विनाशकारी दूसरी लहर के विषय में राष्ट्र को संबोधित किया। निश्चित ही बंगाल और अन्य राज्यों के बेपरवाह और लापरवाह स्टार प्रचारक को देश के प्रधानमंत्री की सधी हुई भूमिका में प्रवेश करने...

कॉरपोरेट की रीढ़ तोड़े बग़ैर किसान नहीं हो पाएंगे कामयाब

किसान आन्दोलन ने 100 दिन पूरा करके दुनिया में चले सबसे लम्बे प्रदर्शन का रिकॉर्ड बना लिया है। शायद, ये मानव इतिहास का ऐसा सबसे बड़ा शान्तिपूर्ण विरोध बन चुका है, जिसमें हरेक उम्र, लिंग, जाति और धर्म के...

आंदोलनजीवियों ने ही देश को गुलामी से दिलाई थी मुक्ति

किसान आंदोलन 2020 की, सबसे बड़ी उपलब्धि यह है कि, इसने धर्म केंद्रित राजनीति जो 2014 के बाद, जानबूझ कर जनता से जुड़े मुद्दों से भटका कर, सत्तारूढ़ दल भाजपा और संघ तथा उसके थिंक टैंक द्वारा की जा...

यूथ कांग्रेस ने किया संसद का घेराव, कहा- युवाओं को झूठ-जुमलों की नींद से उठाने का समय

बेरोजगारी, महंगाई और कृषि क़ानूनों के खिलाफ़ इंडियन यूथ कांग्रेस ने आज संसद घेराव कार्यक्रम आयोजित किया। इस कार्यक्रम में तमाम राज्यों के यूथ कांग्रेस अध्यक्ष, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, राजस्थान, पंजाब, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश, त्रिपुरा, बिहार, दिल्ली, मध्य...

लोकतंत्र में लोक के निर्णय को राजा सुनता है, आज राजा का निर्णय लोक को मानना पड़ रहाः शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद

द्वारका पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद ने कहा है कि सरकार को किसान आंदोलन का तत्काल हल निकालना चाहिए। किसानों का पानी रोका जा रहा है। यह कैसी सरकार है? नोटबंदी, किसान बिल लाकर सरकार केवल एक पक्षीय निर्णय...

अंतर्घाती मोदी सरकार के खिलाफ किसानों और भारत के जन-जन की हुंकार

आरएसएस और मोदी ने भारत को अंदर से खोखला करने के अपने अंतर्घातमूलक अभियान का प्रारंभ सत्ता पर आने के साल भर के अंदर ही 2015 के उस रफाल विमानों के सौदे से शुरू किया था, जिसमें 126 विमानों...

मौजूदा कृषि कानूनों में छिपी हैं भविष्य के बंगाल के अकाल और लाखों मौतों की तस्वीरें!

हर बीतते दिन के साथ दिल्ली की सीमाओँ पर चल रहे किसान संघर्ष के असंख्य आयाम अब तक काफी खुल कर सामने आ चुके हैं और यह भी साफ है कि आने वाले दिनों में इसके और भी नये-नये...

क्या सुप्रीम कोर्ट आरएसएस के किसान संगठनों से समझौता करके कृषकों पर मोदी के अन्याय को लाद देने की फ़िराक़ में है?

जिस सुप्रीम कोर्ट ने असंवैधानिक नोटबंदी पर चुप्पी साधे रखी, जीएसटी के आधे-अधूरेपन पर कुछ भी कहने से गुरेज़ किया, खुद से राम मंदिर के मसले पर संविधान की मूलभूत भावना के विरुद्ध राय दी और धारा 370 को...
- Advertisement -spot_img

Latest News

सरकारी दावों पर पानी फेरता झारखंड के पानी का सच

कहा जाता है कि पहाड़ से पानी का रिश्ता सदियों पुराना है। प्रकृति के इसी गठबंधन की वजह से...
- Advertisement -spot_img